Home » साइंस-टेक » Know limitations of Facebook new app launched only for teenagers
 

लाइफस्टेजः जानिए केवल टीनेजर्स के लिए लॉन्च फेसबुक के नए ऐप की कमियां

अमित कुमार बाजपेयी | Updated on: 21 August 2016, 14:43 IST
(फेसबुक)

सोशल मीडिया दिग्गज फेसबुक ने केवल टीनेजर्स के लिए एक नए ऐप लाइफस्टेज को लॉन्च किया है. विशेषरूप से आईओएस टीनेज यूजर्स के लिए बनाए गए इस ऐप में अपनी जानकारी भरनी होगी और यह वर्चुअल प्रोफाइल वीडियो में बदल जाएगा. जिसे आसानी से अपने स्कूल नेटवर्क में शेयर किया जा सकेगा.

फेसबुक के मुताबिक 21 वर्ष से कम आयु के लोगों के लिए बनाया गया आईओएस का यह लाइफस्टेज ऐप यूजर्स से उनके हंसते-रोते चेहरे, पसंद-नापसंद, सबसे अच्छे दोस्त, किताब समेत अन्य जानकारी पूछेगा.

ये अनोखे ऐप बना देंगे आपके स्मार्टफोन को वाकई स्मार्ट

हालांकि इन जानकारियों को भरने की बजाए यूजर्स अपने वीडियो शूट करके अपलोड कर सकते हैं जिसे यह ऐप वीडियो प्रोफाइल में बदल देगा और स्कूल नेटवर्क के अन्य यूजर्स इसे देख सकेंगे.

इस ऐप के जरिये यूजर्स अपने स्कूल के नेटवर्क में शामिल अन्य लोगों के वीडियो प्रोफाइल देखकर उनके बारे में ज्यादा जानकारी पा सकेंगे और रुचियां, खूबियां समेत अन्य बातें मालूम कर सकेंगे.

मोबाइल ऐप से जाने सोनम कपूर के ब्यूटी-फैशन सीक्रेट

फेसबुक द्वारा जारी की गई पोस्ट में बताया गया कि जैसे ही कोई यूजर लाइफस्टेज में अपना पेज अपडेट करेगा, उसके ग्रुप में जुड़े लोगों तक यह संदेश पहुंच जाएगा.

वैसे तो इस ऐप को 21 साल से ऊपर की आयु वाले लोग भी इस्तेमाल कर सकते हैं और अपनी प्रोफाइल बना सकते हैं, लेकिन वे दूसरों की प्रोफाइल नहीं देख सकेंगे.

आपके हर ईशारे को बखूबी समझती है मोबाइल ऐप से जुड़ी यह स्मार्ट शर्ट

इस ऐप को इस्तेमाल करने के लिए यूजर्स को साइन इन करने के बाद अपने स्कूल का नाम चुनना होगा. इसके बाद अगर उस स्कूल के कम से कम 20 बच्चों ने इस पर रजिस्टर किया हुआ है तो यह ऐप उनकी प्रोफाइल दिखाएगा. 

हालांकि केवल आईओएस यूजर्स के लिए लॉन्च किए गए इस ऐप की सबसे बड़ी खामी इसका केवल आईफोन यूजर्स के लिए ही बना होना है. क्योंकि दुनिया में तेजी से बढ़ते एंड्रॉयड स्मार्टफोन के बीच आईओएस यूजर्स की संख्या काफी कम है. 

क्या होता है जब पुरुष महिलाओं के लिए तकनीकें ईजाद करते हैं?

इसलिए इस ऐप को बहुत ज्यादा लोकप्रियता मिलने की संभावना काफी कम दिखाई देती हैं. हां, अगर फेसबुक इसे एंड्रॉयड यूजर्स के लिए भी लॉन्च कर देता है तो इससे ज्यादा टीनेजर्स के जुड़ने की संभावना है.

वहीं, एक और बड़ी खामी यह भी देखी जा सकती है कि स्कूल-कॉलेज जाने वाले स्टूडेंट्स को कैंपस में फोन के इस्तेमाल की अनुमति नहीं होती. ऐसे में यह ऐप उन्हें ऑफ-कैंपस यानी स्कूल-कॉलेज के बाहर ही इस्तेमाल करना होगा.

फेसटाइम और स्काइपी को टक्कर देने आया गूगल का नया ऐप ड्युओ

First published: 21 August 2016, 14:43 IST
 
अमित कुमार बाजपेयी @amit_bajpai2000

पत्रकारिता में एक दशक से ज्यादा का अनुभव. ऑनलाइन और ऑफलाइन कारोबार, गैज़ेट वर्ल्ड, डिजिटल टेक्नोलॉजी, ऑटोमोबाइल, एजुकेशन पर पैनी नज़र रखते हैं. ग्रेटर नोएडा में हुई फार्मूला वन रेसिंग को लगातार दो साल कवर किया. एक्सपो मार्ट की शुरुआत से लेकर वहां होने वाली अंतरराष्ट्रीय प्रदर्शनियों-संगोष्ठियों की रिपोर्टिंग.

पिछली कहानी
अगली कहानी