Home » साइंस-टेक » Know safety precautions taken by Facebook CEO Mark Zukerberg
 

सुरक्षा को लेकर बेहद सतर्क रहते हैं फेसबुक सीईओ मार्क जुकरबर्ग

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 June 2016, 8:00 IST

सोशल मीडिया की दिग्गज कंपनी फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग अपनी सुरक्षा को लेकर काफी सतर्क रहते हैं. ऐसी अटकलें है कि उनकी जासूसी की जा रही है जिसे लेकर वो अपनी सुरक्षा में ज्यादा एहतियात बरतते हैं.

अभी पिछले दिनों मार्क जुकरबर्ग का ट्विटर और पिंटरेस्ट अकाउंट हैक कर लिया गया था. इसके बाद जुकरबर्ग इंटरनेट पर सुरक्षा को लेकर ज्यादा सतर्कता बरतने लगे हैं. 

देखें, 5,300 करोड़ पिक्सल वाली दुनिया की सबसे बड़ी तस्वीर

जाहिर है इसके बाद उन्होंने अपने ट्विटर और पिंटरेस्ट अकाउंट का पासवर्ड और ज्यादा कठिन बना लिया होगा लेकिन इससे उन्हें यह सबक जरूर मिल गया कि ऑनलाइन दुनिया में सुरक्षा सबसे जरूरी है.

इसके बाद दुनिया के चौथे सबसे अमीर आदमी मार्क जकरबर्ग द्वारा इंस्टाग्राम पर पोस्ट की गई एक ताजा तस्वीर से पता चला है कि वो अब अपनी सुरक्षा को लेकर काफी ज्यादा संवेदनशील हो गए हैं. 

जानें व्हॉट्सएप से जुड़े 10 जरूरी जुगाड़ 

इंस्टाग्राम द्वारा हाल ही में 50 करोड़ मासिक सक्रिय यूजर्स की संख्या हासिल करने के मौके पर जुकरबर्ग ने इसकी खुशी जाहिर करते हुए एक तस्वीर शेयर की. 

इस तस्वीर में जुकरबर्ग अपने ऑफिस की डेस्क के बगल में अपनी कुर्सी पर बैठे हैं और इंस्टाग्राम का फ्रेम लेकर फोटो खिंचवा रहे हैं. उनकी डेस्क पर मैकबुक समेत तमाम चीजें रखी हुई हैं. 

मानें या नहीं: गूगल अगर चाहे तो एक मिनट में आपका कच्चा-चिट्ठा सामने रख देगा

इस तस्वीर के शेयर होने के बाद पता चला कि जकरबर्ग हैकर्स और जासूसों से दूर रहने के लिए अपने मैकबुक के कैमरे और माइक्रोफोन पोर्ट को टेप से बंद रखते हैं. 

एक ऑनलाइन यूजर क्रिस ऑल्सन ने इस बात पर सबसे पहले गौर किया और सोशल मीडिया पर इसका खुलासा किया. बताया जा रहा है कि दुनिया के तमाम बड़े हैकर्स कैमरा और ऑडियो हार्डवेयर के जरिये जकरबर्ग के लैपटॉप में सेंध लगाकर उनकी जासूसी कर सकते हैं.

इस साल गूगल दे देगा पासवर्ड से आजादी

हालांकि जकरबर्ग ने बिल्कुल भारतीय जुगाड़ स्टाइल में अपने मैकबुक के कैमरे और माइक्रोफोन पोर्ट को टेप लगाकर ढक दिया. 

गिज्मोडो द्वारा पहली बार इस घटना की सार्वजनिक तौर पर जानकारी दी गई और रिपोर्ट में बताया गया कि विडंबना है कि तमाम यूजर्स का रोजाना डाटा इकट्ठा करने वाले फेसबुक के सीईओ खुद को बचाने के लिए ऐसा कर रहे हैं. 

सेलः महज एक डॉलर में हैकर बेच रहे ईमेल और पासवर्ड

रिपोर्ट में यह भी बताया गया कि यह डेस्क जकरबर्ग की ही है क्योंकि कुछ माह पहले उन्होंने अपने ऑफिस का एक वीडियो जारी कर बताया था कि यही उनकी डेस्क है.

बता दें इससे पहले फरवरी में जकरबर्ग ने एक तस्वीर पोस्ट की थी जिसमें वो बर्लिन की यात्रा के दौरान जॉगिंग करते नजर आ रहे थे. यहां पर भी अपनी सुरक्षा को लेकर चिंतित जकरबर्ग के साथ पांच बॉडीगार्ड भी नजर आ रहे थे. 

आत्महत्या रोकने के लिए एकजुट हुए फेसबुक और दीपिका पादुकोण

हालांकि अपनी सुरक्षा को लेकर चिंतित जकरबर्ग के पास इसकी पुख्ता वजह भी है क्योंकि कुछ वक्त पहले आईएसआईएस समर्थकों द्वारा उन्हें जान से मारने की ऑनलाइन धमकी भी दी गई थी. 

कुछ समय पहले जारी सूचना में पता चला था कि पांच साल में जकरबर्ग ने अपनी और परिवार की सुरक्षा को लेकर 16 मिलियन अमेरिकी डॉलर (करीब 107 करोड़ रुपये) की रकम खर्च की. 

First published: 23 June 2016, 8:00 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी