Home » साइंस-टेक » Know serial numbers of iphone 6S which are eligible for free battery replacement by Apple
 

जानिए किस सिरीज के आईफोन 6S की बैटरी मुफ्त बदल रही है एप्पल

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 December 2016, 13:15 IST

कुछ शिकायतों के बाद दुनिया की दिग्गज तकनीकी कंपनी एप्पल अपने पिछले फ्लैगशिप स्मार्टफोन आईफोन 6S की बैटरी मुफ्त में बदल रही है. हालांकि एप्पल इसके लिए कुछ चुनिंदा सिरीज के सेट ही योग्य हैं. अगर आपके पास भी आईफोन 6S हैंडसेट है और आप इसकी बैटरी बदलवाना चाहते हैं, तो जानिए कैसे पता करेंगे कि क्या एप्पल इसकी बैटरी मुफ्त में बदलेगी या नहीं.

एप्पल ने इसके लिए एक नया टूल जारी किया है जिसमें यूजर्स अपनी डिवाइस का सीरियल नंबर डालकर जांच सकते हैं कि क्या फोन बैटरी बदलने के योग्य है या नहीं. सबसे पहले तो आप अपने आईफोन की सेटिंग्स-जनरल-अबाउट-सीरियल नंबर पर पहुंचे. यह सीरियल नंबर एप्पल वेबसाइट के सपोर्ट पेज पर डालें और देखें कि क्या यह रिपेयर के लिए योग्य है या नहीं.

फ्री नहीं है जियो हैप्पी न्यू ईयर ऑफर, चुकानी पड़ेगी डाटा रिचार्ज की कीमत

ध्यान रखें कि एप्पल वेबसाइट सपोर्ट पेज पर आपको सही देश (भारत में हैं तो भारत) चुनना होगा, तब ही देश के हिसाब से बदले जा सकने वाले सीरियल नंबर आपको दिखाई देंगे.

इससे पहले 9टू5मैक वेबसाइट द्वारा सीरियल नंबर की सूची जारी की गई थी. वेबसाइट द्वारा बताया गया था कि सिरीज नंबर के चौथे और पांचवें लेटर इसके लिए निर्णायक होंगे कि फोन की बैटरी बदलेगी या नहीं. 

सावधानः 10 लाख से ज्यादा गूगल अकाउंट हैक, जानिए कैसे चेक करें

अब सीरियल नंबर के चौथे-पांचवें लेटर्स जो आपके फोन की बैटरी बदलवा सकते हैं, वे हैंः Q3 से लेकर Q9 और QC, QD,QF, QG, QH और QJ.

एप्पल का कहना है कि इस सिरीज की आईफोन 6S डिवाइसें अचानक बंद हो जा रही हैं वो भी तब जब उनमें 40-50 फीसदी बैटरी बची होती है. फिर जब फोन को चार्जिंग में लगा दिया जाता है तो यह फिर से शुरू हो जाता है और जितने फीसदी पर बंद हुआ था उतनी ही बैटरी दिखाता है. 

जानिए क्यों रिलायंस बंद कर सकता है आपका जियो वेल्कम ऑफर

एप्पल का कहना है कि वह मुफ्त में यह बैटरी बदल रहा है लेकिन इससे पहले वो यह जरूर जांच करेगा कि क्या फोन बैटरी बदलने के लिए योग्य है और सही से काम कर रहा है. अगर आपके फोन का डिस्प्ले क्रैक हो गया है तो एप्पल आपसे इसकी मरम्मत के लिए अतिरिक्त कीमत वसूल सकता है. 

इतना ही नहीं यूजर्स को फोन रिपेयर पर भेजने से पहले इसका पूरा डाटा डिलीट करना होगा और फाइंड माई आईफोन फीचर को भी बंद करना होगा. बिक्री शुरू होने की तारीख से सभी आईफोन 6S की बैटरी इस प्रोग्राम के अंतर्गत मान्य हैं.

First published: 2 December 2016, 13:15 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी