Home » साइंस-टेक » Lancet removes article describing hydroxychloroquine as dangerous for covid patients
 

लैंसेट ने हटाया hydroxychloroquine को कोविड रोगियों के लिए खतरनाक बताने वाला अध्ययन

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 June 2020, 12:27 IST

Coronavirus: जाने माने मेडिकल जर्नल लैंसेट ने गुरुवार को हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन पर विवादास्पद अध्ययन को वापस ले लिया, जिसमें कहा गया था कि एंटी मलेरिया मेडिसिन हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन का इस्तेमाल कोविड-19 रोगियों में मृत्युदर को बढ़ा सकता है. एक रिपोर्ट में कहा गया है कि लैंसेट में छपे इस अध्ययन का एनालिसिस करने वाली फर्म सर्जिस्फीयर ने इंडिपेंडेंट इवैल्यूऐशन के लिए पूरे डेटा को देने से मना कर दिया, जिसके बाद लैंसेट का कहना है कि डेटा की वह गारंटी नहीं ले सकते हैं. दुनियाभर के 100 से ज्यादा रिसर्चर ने इस स्टडी की जांच करवाने की मांग की थी.

अब लैंसेट का कहना है कि हम प्राइमरी डेटा सोर्स की गारंटी नहीं ले सकते, इसलिए अध्ययन वापस ले रहे हैं. पिछले महीने प्रकाशित इस अध्ययन को गंभीर आलोचनाओं का सामना करना पड़ा था. पता चला था कि आंकड़ों में विसंगतियां थीं, जिनमें से सबसे प्रमुख ऑस्ट्रेलिया के अस्पतालों में होने वाली मौतों के बारे में थी, जो रिपोर्ट किए गए सरकारी नंबरों से अधिक थी. इस लेख के बाद विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने पिछले हफ्ते सॉलिडेटरी ट्रायल में हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन को रोक दिया था. हालांकि बाद में इसके ट्रायल को अनुमति दे दी गई.


जिस दवा के लिए ट्रंप ने PM मोदी पर बनाया था दबाव, कोरोना संक्रमितों के लिए हो सकती है जानलेवा

भारत में मलेरिया के उपचार के लिए हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन और उसके पुराने रूप, क्लोरोक्वीन का व्यापक रूप से इस्तेमाल किया जाता है. लैंसेट में 2 मई को पब्लिश अध्ययन में दावा किया गया था कि कोरोना वायरस के मरीजों को ये दवा देने से मौत का खतरा बढ़ सकता है. यह भी कहा कहा गया था कि दिल की धड़कन असामान्य (एबनॉर्मल) हो सकती है.

हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन की कई बार अमेरिकी राष्ट्रपति सिफारिश कर चुके हैं. ट्रंप ने कहा कि वह खुद इसका इस्तेमाल कर रहे हैं. ट्रंप ने भारत से भी इसका एक्सपोर्ट करने को कहा था. ब्राजील का स्वास्थ्य मंत्रालय भी हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन का इस्तेमाल कर रहा है.

Coronavirus: ब्राजील में मौतों को रोकना हुआ मुश्किल, राष्ट्रपति बोल्सोनारो ने खरीदी क्लोरोक्वीन

Coronavirus : भारत में लगातार दूसरे दिन 9,000 से ज्यादा मामले, जानिए तीन बड़े राज्यों के हाल

First published: 5 June 2020, 12:08 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी