Home » साइंस-टेक » Microsoft claimed Google's browser Chrome draining battery faster
 

माइक्रोसॉफ्ट का दावा गूगल क्रोम खाता है ज्यादा बैट्री

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 June 2016, 20:45 IST

सॉफ्टवेयर की दिग्गज कंपनी माइक्रोसॉफ्ट ने एक कहा है कि गूगल का इंटरनेट ब्राउजर 'क्रोम' बैट्री की ज्यादा खपत करता है. कंपनी का कहना है कि विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम आधारित कंप्यूटर (लैपटॉप) में 'क्रोम' बैटरी का ज्यादा इस्तेमाल करता है.

बीते दिनों माइक्रोसॉफ्ट द्वारा गूगल क्रोम, मोजिला फायरफॉक्स, ओपेरा और स्वयं के एज जैसे दुनिया के मशहूर इंटरनेट ब्राउजर्स का परीक्षण किया गया. इस परीक्षण में पता चला कि गूगल क्रोम ब्राउजर इस्तेमाल करने वाले यूजर्स माइक्रोसॉफ्ट के एज ब्राउजर को इस्तेमाल करने वाले यूजर्स की तुलना में अपने सिस्टम को ज्यादा चार्ज करते हैं.

जानें व्हॉट्सएप से जुड़े 10 जरूरी जुगाड़

इस बाबत माइक्रोसॉफ्ट द्वारा 20 जून को यूट्यूब पर एक 41 सेकेंड का एक वीडियो पोस्ट कर लिखा गया है कि एक ही जैसी तीन डिवाइसों में अलग-अलग ब्राउजर्स को इस्तेमाल करने से क्या होता है.

इस परीक्षण के बाद पता चला कि एज ब्राउजर का इस्तेमाल करने वाले यूजर्स के सिस्टम का बैटरी बैकअप क्रोम ब्राउजर यूजर्स की तुलना में 70 फीसदी ज्यादा रहता है. जबकि फायरफॉक्स के मुकाबले यह 43 फीसदी और बैट्री इनेबल्ड ओपेरा ब्राउजर की तुलना में 17 फीसदी ज्यादा बैकअप देता है.

मालूम हो कि यह परीक्षण रिपोर्ट तब सामने आई है जब गूगल क्रोम ब्राउजर यूजर्स की पहली पसंद बन रहा है. वहीं, माइक्रोसॉफ्ट अपने ब्राउजर में लगातार बदलाव कर रहा है. बावजूद इसके अभी भी तमाम वजहों से यूजर्स को क्रोम ज्यादा पसंद आ रहा है. 

मानें या नहीं: गूगल अगर चाहे तो एक मिनट में आपका कच्चा-चिट्ठा सामने रख देगा

संभावनाएं जताई जा रही हैं कि माइक्रोसॉफ्ट इस तरह के परीक्षणों के जरिये यूजर्स को यह बताना चाहता है कि वे क्रोम की जगह एज का इस्तेमाल करें.

First published: 21 June 2016, 20:45 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी