Home » साइंस-टेक » Mobile theft or missing can found using helpline number 14422
 

मोबाइल चोरी होने पर मिलायें, इस हेल्पलाइन पर फोन वापस मिल जाएगा

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 May 2018, 14:13 IST

मोबाइल चोरी के मामले दिन-प्रतिदिन बढ़ते ही जा रहे हैं. ऐसे में यह सेवा मोबाइल चोरी समस्या को सुलझाने में काफी मदद करेगा. मोबाइल चोरी की समस्या को देखते हुए सरकार ने एक हेल्पलाइन नंबर 14422 जारी किया है. इस नंबर पर शिकायत करने पर पुलिस व सेवा प्रदाता कंपनी चोरी या खोए मोबाइल का पता करने में लग जाएगी. दूरसंचार मंत्रालय मई के अंत में महाराष्ट्र सर्किल में इसकी शुरुआत करेगा. वहीं देश के 21 अन्य दूरसंचार सर्कल में कई चरणों में इसे दिसंबर तक लागू किया जाएगा.

ये भी पढ़ें-Facebook के इंजीनियर ने टिंडर पर महिला को भेजा मेसेज, खुद को बताया 'पेशेवर पीछा करने वाला'

दूरसंचार प्रौद्योगिकी केंद्र (सी-डॉट) ने चोरी या खोये फोन का पता लगाने के लिए सेंट्रल इक्विपमेंट आईडेंटिटी रजिस्टर (सीईआईआर) तैयार कर लिया है. सीईआईआर में देश के हर नागरिक का मोबाइल मॉडल, सिम नंबर और आईएमईआई नंबर है. मोबाइल मॉडल पर निर्माता कंपनी द्वारा जारी आईएमईआई नंबर के मिलान का तंत्र सी-डॉट ने ही विकसित किया है.

 

इस तंत्र को चरणबद्ध तरीके से राज्यों की पुलिस को सौंपा जाएगा. मोबाइल के खोने पर शिकायत दर्ज होते ही पुलिस और सेवा प्रदाता मोबाइल मॉडल और आईएमईआई का मिलान करेंगी. अगर आईएमईआई नंबर बदला जा चुका होगा, तो सेवा प्रदाता उसे बंद कर देंगी, हालांकि सेवा बंद होने पर भी पुलिस मोबाइल ट्रैक कर सकेगी.

ये भी पढ़ें-Jio ग्राहकों की बल्ले-बल्ले, कंपनी दे रही है 1100 GB मुफ्त डाटा

सी-डॉट के अनुसार शिकायत मिलने पर खोये मोबाइल में कोई भी नया सिम लगाए जाने पर नेटवर्क नहीं आएगा, लेकिन उसकी ट्रैकिंग होती रहेगी. बता दें पिछले कुछ सालों से रोजाना हजारों मोबाइल की चोरी और लूट की घटनाओं को देखते हुए सी-डॉट को दूरसंचार मंत्रालय ने यह तंत्र विकसित करने को कहा था. मंत्रालय के एक सर्वे में पाया गया था कि देश में एक ही आईएमईआई नंबर पर 18 हजार हैंडसेट चल रहे हैं.

First published: 11 May 2018, 14:13 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी