Home » साइंस-टेक » Moderna vaccine: can be stored in the refrigerator for 30 days Moderna vaccine
 

Coronavirus vaccine: 30 दिनों के लिए रेफ्रिजरेटर में भी स्टोर की जा सकती है मॉडर्ना की कोविड वैक्सीन

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 November 2020, 11:50 IST

Moderna vaccine; कोरोना वायरस वैक्सीन निर्माता मॉडर्ना इंक (Moderna) का कहना है कि लार्ज लेट स्टेज क्लीनिकल ट्रायल में उनकी कोरोना वैक्सीन के 94.5 फीसदी प्रभावी पायी गई है. इससे पहले एक अन्य वैक्सीन निर्माता फाइजर इंक ने कहा कि उनकी वैक्सीन 90 फीसदी से अधिक प्रभावी है. दोनों शॉट्स मैसेंजर आरएनए mRNA नामक एक तकनीक पर निर्भर हैं, जिसका उपयोग कभी भी अनुमोदित टीके के निर्माण के लिए नहीं किया गया है. कंपनी के एक बयान में कहा गया है कि 30,000 से अधिक वालंटियर के डेटा के पहले विश्लेषण में मॉडर्ना के टीके को कोविड -19 के खिलाफ प्रभावी पाया गया है.

मॉडर्ना ने सोमवार को खुलासा किया कि नए अध्ययन से पता चलता है कि उनकी वैक्सीन रेफ्रिजरेटर के तापमान पर 30 दिनों के लिए रखी जा सकती है. पहले इस अवधि को सात दिन बताया जा रहा था. वैक्सीन लंबे समय तक स्टोरेज के लिए इसे फ्रीजर में रखी जा सकती है, इसमें फाइजर वैक्सीन के लिए आवश्यक विशेष सुविधाओं की आवश्यकता नहीं है. मॉडर्ना और फाइजर दोनों के टीके mRNA तकनीक पर आधारित हैं. एक बार इंजेक्शन लगाने के बाद टीके कोशिकाओं को सुरक्षात्मक एंटीबॉडी के निर्माण को उत्तेजित करते हैं.


mRNA के भंडारण और परिवहन के लिए बेहद ठंडे वातावरण की आवश्यकता होती है. पिछले हफ्ते Pfizer ने कहा था कि उनकी वैक्सीन 90 फीसदी प्रभावी थी. अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) के निदेशक डॉ.रणदीप गुलेरिया ने कहा “फाइजर वैक्सीन को माइनस 70 डिग्री सेल्सियस पर रखना पड़ता है जो भारत और विकासशील देशों के लिए एक चुनौती है.

स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय का कहना है कि भारत में कोरोना वायरस के दैनिक नए मामलों में लगातार गिरावट हो रही है. भारत में पिछले 24 घंटों में COVID19 के 29,164 नए मामले आने के बाद कुल मामलों की संख्या 88,74,291 हो गई है. 449 नई मौतों के बाद कुल मौतों की संख्या 1,30,519 है.

Coronavirus Vaccine : कोरोना वैक्सीन बनाने की रेस में कौन-कौन सी कंपनियां आगे और कब आएगी वैक्सीन ?

12,077 की कमी के बाद अब देश में सक्रिय मामले 4,53,401 हैं. 40,791 नए डिस्चार्ज के बाद कुल ठीक हुए मामलों की संख्या 82,90,371 हुई. भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR)का कहना है कि कल (16 नवंबर) तक कोरोना वायरस के लिए कुल 12,65,42,907 सैंपल टेस्ट किए गए, जिनमें से 8,44,382 सैंपल कल टेस्ट किए गए.

Coronavirus vaccine : मॉडर्ना और फाइजर के बाद अब आएगी भारत की वैक्सीन, क्लीनिकल ट्रायल हुआ शुरू

First published: 17 November 2020, 11:29 IST
 
अगली कहानी