Home » साइंस-टेक » The popular streaming service is now available in India.
 

नेटफ्लिक्स भारत में हुआ लॉन्च

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 January 2016, 15:54 IST

ऑन डिमांड मीडिया स्ट्रीमिंग सर्विस नेटफ्लिक्स गुरुवार को भारत में भी लॉन्च हो गया. नेटफ्लिक्स एक अमेरिकी कंपनी है, जो उपयोग अनुसार इंटरनेट की मदद से लोगों को मनोरंजन के साधन उपलब्ध करवाता है.

सबसे पहले इसकी सब्सक्रिप्शन बेस सर्विस की शुरुआत अमेरिका में 1999 में हुई थी. 2009 तक आते-आते नेटफ्लिक्स के खाते में एक लाख से ज्यादा फिल्मों का संग्रह था और इसके ग्राहकों की संख्या एक करोड़ से ऊपर चली गई थी. उस समय यह डीवीडी के जरिए व्यापार चलाती थी.

2011 में इसके ग्राहकों की संख्या दुनिया भर में मिलाकर करीब ढाई करोड़ हो गई थी और इसका व्यापार डेढ़ अरब डॉलर के पार चला गया था. सितंबर 2014 में कंपनी के जारी हुए आंकड़ों के मुताबिक इसके ग्राहकों की संख्या लगभग सात करोड़ हो गई थी. इसके उपभोक्ता करीब 40 देशों में फैले हुए थे.

कंपनी ने भारत में तीन प्लान लॉन्च किए हैं - बेसिक, स्टैंडर्ड और प्रीमियम. प्लान लेने पर पहले महीने इसकी सर्विस फ्री रहेगी. इसके तीनो वर्जन अनलिमिटेड हैं पर बेसिक सब्सक्रिप्शन में एचडी वीडियोज नहीं मिलेंगे. और इस बेसिक सब्सक्रिप्शन से एक बार में एक स्क्रीन पर ही देखा जा सकता है.

नेटफ्लिक्स की शुरुआत 1997 में केलिफोर्निया में हुई थी . अभी देखा जाए तो  यह ऑस्ट्रेलिया, न्यूज़ीलैंड, दक्षिण अमेरिका, जापान, उत्तर अमेरिका, और यूरोप के कुछ भाग जैसे डेनमार्क, फ़्रांस, जर्मनी, नीदरलैंड, नॉर्वे, स्वीडन, फिनलैंड, स्विट्ज़रलैंड, ऑस्ट्रिया, बेल्जियम, लक्ज़ेम्बर्ग, आयरलैंड, स्कॉटलैंड और इंग्लैंड जैसे देशों में उपलब्ध है. अमेरिका में यह डीवीडी के माध्यम से भी भेजा जाता है.

कंपनी ने हाल ही में अपनी सेवा भारत समेत चार एशियाई देशों में शुरू करने की जानकारी दी थी. नेटफ्लिक्स के सीईओ रीड हैस्टिंग ने कहा कि कंपनी 2016 के आखिर तक अपनी सर्विस कई देशों में लॉन्च करके ग्लोबल हो जाएगी. जिनमें से भारत, नाइजीरिया, पोलैंड, सिंगापुर, साउथ कोरिया, तुर्की, इंडोनेशिया समेत 130 देश शामिल हैं.

netflix 2

नेटफ्लिक्स ने भारत में अपनी सेवा देने के लिए एक 4जी नेटवर्क प्रोवाइडर टेलीकॉम ऑपरेटर से करार किया था. देश में इस समय एयरटेल और रिलायंस जियो ही 4जी सेवा दे रहे हैं. 

भारत में नेटफ्लिक्स सभी स्क्रीन्स के लिए उपलब्ध होगा. टीवी पर इसे चलाने के लिए इसके लिए अलग से एक्सबॉक्स 360 जैसा डिवाइस लगाना होगा. दूसरे डिवाइस जैसे स्मार्टफोन, टैबलेट और लैपटॉप पर यह सिर्फ इंटरनेट के जरिए चलेगा इसके लिए कोई अलग डिवाइस लगाने की जरूरत नहीं होगी.

आंकड़ों को देखा जाये तो अक्टूबर 2015 में नेटफ्लिक्स के पास करीब 7 करोड़ उपभोक्ता थे. यह कंपनी ऑनलाइन कंटेंट देने के अलावा खुद के ओरिजिनल शो भी बनाती है. ऑरेंज इस द न्यू ब्लैक, हाउस ऑफ़ कार्ड्स, मार्वल्स जेसिका जोंस और डेयरडेविल्स कुछ ऐसे शो हैं जो एक्सक्लूसिव तौर पर नेटफ्लिक्स पर उपलब्ध हैं.

अमेरिका में इसकी सेवा इस्तेमाल करने के लिए यूजर को 8.99 डॉलर (करीब 600 रुपये) हर महीने देने पड़ते हैं. कंपनी के मुताबकि यह दुनिया में 60 देशों में 69 मिलियन यूजर्स के साथ दुनिया की सबसे बड़ी इंटरनेट टेलीविजन नेटवर्क है. कंपनी ने सबसे पहले लोगों को डीवीडी रेंट पर देना शुरू किया था. 

गौरतलब है कि ऑन डिमांड स्ट्रीमिंग सर्विस एचओओक्यू ने मई में अपनी सर्विस भारत में शुरू की थी. इस ऑन डिमांड सर्विस को सोनी पिक्चर्स और वॉर्नर स्टूडियोज ने मिलकर बनाया है. भारत में यह 199 रुपये प्रति माह के दर से उपलब्ध है. वैसे लिमिटेड फिल्म और टीवी शोज होने की वजह से यह अभी ज्यादा पॉपुलर नहीं है.

First published: 7 January 2016, 15:54 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी