Home » साइंस-टेक » Oracle wants Rs. 61,000 Crore from Google
 

ओरैकल ने गूगल पर ठोका 61 हजार करोड़ रुपये का दावा

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:51 IST

दुनिया की प्रमुख सॉफ्टवेयर कंपनी ओरैकल सॉफ्टवेयर कॉपीराइट उल्लंघन के मामले में आईटी दिग्गज गूगल से करीब 61,873 करोड़ रुपये का वसूलना चाहती है. एक अंग्रेजी वेबसाइट द्वारा जारी रिपोर्ट के मुताबिक दोनों कंपनियां आगामी मई में फिर अदालत के सामने पहुंचेंगी. 

फॉर्च्यून वेबसाइट की खबर में आईडीजी न्यूज सर्विस के हवाले से बताया गया है कि ओरैकल का दावा है कि "जावा कॉपीराइट्स उल्लंघन से जुड़े लाभ" के करीब 58,546 करोड़ रुपये के साथ ही उससे होने वाले नुकसान के रूप में भी उसे 3,160 करोड़ रुपये मिलने चाहिए.

Consume court/Live/File

अदालती दस्तावेज के हवाले से रिपोर्ट में बताया गया है कि यह दोनों कंपनियां (ओरैकल और जावा) गूगल से नाराज हैं. इसके पीछे की वजह गूगल द्वारा अपने एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम को बनाने के पीछे इस्तेमाल किए जाने वाले कथित एपीआई (एप्लीकेशन प्रोग्रामिंग इंटरफेसेस) में जावा प्रोग्रामिंग का इस्तेमाल किया जाना है.

ओरैकल ने कहा कि गूगल ने जावा के इस्तेमाल के लिए कंपनी को भुगतान नहीं किया था. मालूम हो कि जावा डेवलप करने वाली कंपनी सन माइक्रोसिस्टम्स का वर्ष 2010 में ओरैकल ने अधिग्रहण कर लिया था.

पढ़ेंः ब्लैकबेरी से फेसबुक करेगा साइन आउट

इससे पहले 2012 में दोनों कंपनियां इस मामले को अदालत में ले गई थीं. लेकिन न्यायिक दल यह तय करने में असमर्थ रहा था कि क्या गूगल ने जावा एपीआई का "फेयर यूज" किया था. 

ओरैकल का दावा है कि गूगल ने जावा से संबंधित उसके कई पेटेंट्स और कॉपीराइट्स का उल्लंघन किया. वहीं, गूगल इस बात पर टिका रहा कि अगर उसने ओरैकल के कॉपीराइट का उल्लंघन किया भी था तो यह "फेयर यूज" के अंतर्गत आता था, जिसके लिए वास्तविक कॉपीराइट धारक से अनुमति लेने की जरूरत नहीं होती. साथ ही एंड्रॉयड डेवलप करने के लिए इस्तेमाल किए गए एपीआई किसी भी कॉपीराइट कानून के अंतर्गत नहीं आता है. 

पढ़ेंः जानिए मौत के बाद भी कैसे जिंदा रह सकते हैं आप

कॉपीराइट कानून के संबंध में एपीआई वाली बात सही है लेकिन ओरैकल इस बात पर जोर दे रहा है कि जावा एपीआई का "स्ट्रक्चर, सीक्वेंस और ऑर्गनाइजेशन" यूनीक और कॉपीराइटेबल है.

First published: 29 March 2016, 8:46 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी