Home » साइंस-टेक » Pfizer Inc. filed suit against two Indian pharmaceutical companies in US court
 

फाइजर इंक ने इन दो भारतीय दवा कंपनियों के खिलाफ अमेरिकी अदालत में दायर किया मुकदमा

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 November 2020, 16:00 IST

अमेरिकी दवा निर्माता फाइजर इंक (Pfizer Inc) और उसकी समूह की कंपनियों ने अरबिंदो फार्मा लिमिटेड (Aurobindo Pharma Ltd) और डॉ. रेड्डी लेबोटरीज (Dr Reddy's Laboratories) के खिलाफ अमेरिकी अदालत में एक मुकदमा दायर किया है, जिसमें आरोप लगाया गया कि भारतीय दवा निर्माता अरविंदो फार्मा लिमिटिड और डॉ. रेड्डीज लैबोरेटरीज पेटेंट समाप्त होने से पहले फाइजर की दवा इब्रांस (पाल्बोसिक्लिब) का जेनेरिक संस्करण लाने की तैयारी कर रही हैं. जिससे कंपनी को अरबों डॉलर के राजस्व नुकसान होने की संभावना है.

फाइजर ने अमेरिका की डिस्ट्रिक्ट कोर्ट में संभावित पेटेंट उल्लंघन के मामले डेलावेयर जिले के लिए संयुक्त राज्य अमेरिका के जिला न्यायालय में दोनों कंपनियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है. पाल्बोसिक्लिब का उपयोग स्तन कैंसर के इलाज के लिए किया जाता है और यह कैंसर कोशिकाओं के विकास को धीमा या रोककर काम करता है. Pfizers 2019 की वार्षिक रिपोर्ट के अनुसार, इब्रान ने संयुक्त राज्य अमेरिका में 2019 में 3.25 बिलियन डॉलर सहित लगभग 5 अरब डॉलर का राजस्व प्राप्त किया.


मार्च 2019 में कई जेनेरिक दवा कंपनियों ने घोषणा की थी कि उन्होंने इब्रांस के जेनेरिक संस्करण के लिए अमेरिका के एफडीए के समक्ष आवदेन किया है. अमेरिका में फाइजर इंक समेत उसके समूह की कंपनियों की तरफ से दायर मुकदमे के मामले में भारत की दोनों कंपनियों को पेटेंट उल्लंघन का सामना करना होगा. एक रिपोर्ट के अनुसार फाइजर के आवेदन पर भारतीय दवा कंपनी के वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि अमेरिका में जेनेरिक दवा कंपनियों के खिलाफ केस करना साधारण बात है. मुकदमे से कंपनी की कार्य प्रगति पर कोई असर नहीं पड़ेगा.

Coronavirus vaccine : मॉडर्ना और फाइजर के बाद अब आएगी भारत की वैक्सीन, क्लीनिकल ट्रायल हुआ शुरू

First published: 17 November 2020, 15:51 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी