Home » साइंस-टेक » Reliance Jio 4G users now suspending their services, returning SIM card, customer care saying not every 4G handset is JIO service ready
 

यूजर्स बंद करवा रहे रिलायंस जियो 4जी कनेक्शन, हर 4जी फोन में नहीं चल रहा सिम

अमित कुमार बाजपेयी | Updated on: 14 October 2016, 18:16 IST

दो माह पहले रिलायंस जियो 4जी सिम को पाने की जो दीवानगी इसके यूजर्स में थी, अब नहीं दिखाई देती. यूं तो रिलायंस ने 5 सितंबर से फ्री वेल्कम ऑफर देकर बीते माह 1 करोड़ 60 लाख नए यूजर्स को अपने साथ जोड़ लिया.

लेकिन अब जियो 4जी की कथितरूप से बेकार सेवा ने यूजर्स को इसे छोड़ने के लिए मजबूर कर दिया है. आलम यह है कि जियो यूजर्स तमाम वजहों से अपने कनेक्शन बंद करवा रहे हैं.

जानिए कैसे बढ़ाएं जियो 4जी सिम में डाउनलोडिंग स्पीड

यूं तो रिलायंस द्वारा अगस्त में अनाधिकारिक रूप से घोषणा कर दी गई कि अब किसी भी कंपनी के 4जी स्मार्टफोन पर जियो 4जी सिम को चलाया जा सकता है. 

लेकिन इसके बाद भी जियो अपनी वेबसाइट पर जियो 4जी सपोर्टेड स्मार्टफोनों की सूची में नई-नई कंपनियों का नाम जोड़ता गया. 

दिसंबर 2017 तक रिलायंस जियो वेलकम ऑफर बढ़ाने का तरीका है गैरकानूनी

फिलहाल जियो डॉट कॉम के मुताबिक लाइफ, सैमसंग, माइक्रोमैक्स, एचटीसी, लिनोवो, सोनी, इंटेक्स, वीवो, लावा, पैनासोनिक, जियोनी, आसुस, मोटो, जोलो, कार्बन, एलजी, इनफोकस, हुआवे, वीडियोकॉन, सेल्कॉन, यू मोबाइल्स, सैनसुई, अल्काटेल, टीसीएल, आईटेल, लीइको, वन प्लस, स्मार्टन, ओप्पो, जेन और शाओमी एमआई यानी कुल 31 कंपनियों के साथ जियो का गठजोड़ है.

जियो डॉट कॉम

हालांकि जियो की वेबसाइट के मुताबिक ही कंपनी अपना वेल्कम ऑफर सभी 4जी डिवाइसों के लिए जारी कर चुकी है. 

दिसंबर 2017 तक रिलायंस जियो वेलकम ऑफर बढ़ाने का तरीका है गैरकानूनी

साथ ही कुछ वक्त पहले तक जारी की गई सूची के मुताबिक अलग-अलग कंपनियों (ऊपर लिखी कंपनियों से भी अलग) के कुल 247 स्मार्टफोन एलटीई डाटा ऑन्ली के योग्य हैं जबकि कई में जियो ऑफर एप्लीकेबिलिटी नहीं है. 

वहीं, जियो के तमाम यूजर्स जो अपना कनेक्शन बंद करवा चुके हैं या सरेंडर कर चुके हैं, का कहना है कि कस्टमर केयर के पास यह जानकारी नहीं है. 

रिलायंस जियो यूजर्स की सबसे बड़ी परेशानी

जियो कस्टमर केयर प्रतिनिधि केवल 31 कंपनियों को ही अभी तक आधिकारिक रूप से वेल्कम ऑफर के योग्य बता रहे हैं. जबकि इस सूची में एप्पल आईफोन का नाम नहीं है और जियो कनेक्शन आईफोनों पर भी चल रहा है.

ग्राहकों की शिकायत है कि पहले तो रिलायंस ने उन्हें जियो सिम दे दिया फिर डेढ़ से दो महीने तक तमाम शिकायतें करने के बावजूद भी नेटवर्क नहीं आया तो कस्टमर केयर से संपर्क करने पर कहा गया कि उनका स्मार्टफोन जियो सेवाओं के लिए योग्य फोनों की सूची में नहीं शामिल है, इसलिए सिग्नल नहीं आएगा. 

जानिए 7 कारण क्यों नहीं लेना चाहिए रिलायंस जियो 4जी सिम

जबकि ग्राहकों का फोन 4जी LTE युक्त है. ऐसे में तमाम ग्राहकों ने अपना कनेक्शन बंद करवा दिया. 

इतना ही नहीं तमाम ग्राहकों की शिकायत यह भी है कि रिलायंस जियो का कस्टमर केयर नंबर मिल जाना भी किस्मत की बात है. घंटों-घंटों तक कस्टमर केयर नंबर मिलाने के बाद भी संपर्क नहीं होता और जब कभी हो जाए तो वहां के प्रतिनिधि सही जानकारी नहीं देते.

First published: 14 October 2016, 18:16 IST
 
अमित कुमार बाजपेयी @amit_bajpai2000

पत्रकारिता में एक दशक से ज्यादा का अनुभव. ऑनलाइन और ऑफलाइन कारोबार, गैज़ेट वर्ल्ड, डिजिटल टेक्नोलॉजी, ऑटोमोबाइल, एजुकेशन पर पैनी नज़र रखते हैं. ग्रेटर नोएडा में हुई फार्मूला वन रेसिंग को लगातार दो साल कवर किया. एक्सपो मार्ट की शुरुआत से लेकर वहां होने वाली अंतरराष्ट्रीय प्रदर्शनियों-संगोष्ठियों की रिपोर्टिंग.

पिछली कहानी
अगली कहानी