Home » साइंस-टेक » Research claims - antiviral drug interferon is the most effective drug to treat coronavirus
 

शोध का दावा- एंटीवायरल ड्रग इंटरफेरॉन है कोरोना वायरस के इलाज की सबसे असरदार दवा

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 May 2020, 13:14 IST

coronavirus: शोधकर्ताओं की एक अंतरराष्ट्रीय टीम ने पाया है कि एक एंटीवायरल दवा इंटरफेरॉन (IFN) -a2b COVID-19 रोगियों को रिकवर करने में तेजी लाने में मदद कर सकती है. 'जर्नल फ्रंटियर्स इन इम्यूनोलॉजी' में प्रकाशित एक अध्ययन से पता चला कि इंटरफेरॉन (आईएफएन) -ए 2 बी देने से वायरस के ख़त्म होने में काफी तेजी आ सकती है और कोविड -19 रोगियों में तेजी से बढ़ रहे प्रोटीन के स्तर को कम किया जा सकता है.

एक रिपोर्ट के अनुसार इस रिसर्च की अगुवाई कर रहे कनाडा की युनिवर्सिटी ऑफ टोरंटो के प्रोफेसर एलीनॉर फिश ने कहा "नए कोरोना वायरस के प्रकोप के लिए वायरस-विशिष्ट एंटीवायरल विकसित करने के बजाय हमें इंटरफेरॉन को उपचार में पहले इस्तेमाल करना चाहिए." अनुसंधान टीम ने IFN-COVID-19 के लिए इसके इस्तेमाल पर विचार किया क्योंकि 2002 और 2003 के दौरान SARS में इंटरफेरॉन से फायदा देखा गया था.


उन्होंने पाया कि इस दवा के उपचार ने श्वसन मार्ग में वायरस की मौजूदगी को काफी कम कर दिया, जो औसतन लगभग सात दिन था. दुनियाभर में कोरोना वायरस की वैक्सीन के रिसर्च किये जा रहे हैं लेकिन अभी तक इसमें सफलता नहीं मिल पायी है. WHO का कहना है कि वह ऐसी दवाओं पर जोड़ दे रहा है, जो वायरस से लड़ने में असरदार हो.

कई परीक्षणों में इंटरफेरॉन (β1a) के अलावा एंटी-वायरल ड्रग्स रेमेडिसविर, क्लोरोक्वीन / हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन, लोपिनवीर-रीटोनवीर शामिल हैं. कई देशों में रोगियों को भर्ती करके परीक्षण किये जा रहे हैं. वैक्सीन दुनियाभर में 100 ट्रायल चल रहे हैं लेकिन एक्सपर्ट का कहना है कि वैक्सीन बनने में अभी ज्यादा वक्त लग सकता है. दवाओं के इस ट्रायल में लगभग 100 देशों के मरीज शामिल हो रहे हैं.

WHO के सॉलिडैरिटी ट्रायल में 1500 भारतीय मरीजों पर होगा परीक्षण, आजमाई जाएंगी ये दवाएं

सिगरेट निर्माता कंपनी का दावा- तैयार कर ली है COVID-19 वैक्सीन, जल्द होगा इंसानों पर ट्रायल

First published: 16 May 2020, 13:12 IST
 
अगली कहानी