Home » साइंस-टेक » Revealed: Hackers carried out cyber attacks on more than 1000 schools, colleges in June to September
 

खुलासा : जून से सितंबर में हैकर्स ने 1000 से अधिक स्कूल, कॉलेजों पर किये साइबर हमले

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 October 2020, 16:23 IST

बाराकुडा नेटवर्क्स (Barracuda Networks) ने खुलासा किया है कि भारत के 1,000 से अधिक स्कूलों और कॉलेजों को जून और सितंबर के बीच साइबर हमलावरों में निशाना बनाया गया था. महामारी के बाद से अधिकांश स्कूल और कॉलेज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग का उपयोग करके ऑनलाइन कक्षाएं आयोजित कर रहे हैं. यही नहीं एडमिशन और हायरिंग जैसी कई अन्य प्रक्रियाएं भी ऑनलाइन की जा रही हैं. स्पीयर फ़िशिंग एक व्यक्तिगत फ़िशिंग अटैक है जो एक विशिष्ट संगठन या व्यक्ति को टारगेट करता है.

अपनी जांच के दौरान बाराकुडा के शोधकर्ताओं ने पाया कि 57 फीसदी मिलिसियस ईमेल (malicious emails) कम्प्यूटरों को हैक करने के लिए भेजे गए थे. हो सकता है कि साइबर हमलावरों ने डार्क वेब या सोशल इंजीनियरिंग के माध्यम से इन खातों पर कब्ज़ा लिया हो और उन्हें नए ईमेल हमले शुरू करने के लिए इस्तेमाल किया हो. यह भी पाया गया कि इस अवधि के दौरान शिक्षण संस्थानों पर सभी ई मेल अटैक के 86 फीसदी हमले जीमेल खातों के माध्यम से किए गए थे.


साइबर क्रिमिनल जीमेल जैसी ईमेल सेवाओं को पसंद करते हैं क्योंकि वे मुफ्त, रजिस्टर करने में आसान और व्यापक रूप से इस्तेमाल की जाती हैं. कुछ ईमेलो में लिंक पर क्लिक करने के लिए 'नए कोविड दिशा-निर्देश' संबंधित गतिविधियों का भी उपयोग किया गया.विशेषज्ञों का मानना है कि शैक्षणिक संस्थान अन्य क्षेत्रों के संगठनों की तुलना में एक साइबर हमले के मुकाबले दोगुने से अधिक हैं.

शैक्षणिक संस्थान गोपनीय सर्वर वर्क, अपने पते और भुगतान विवरण सहित छात्रों और कर्मचारियों की जानकारी सहित अपने सर्वर पर बड़ी मात्रा में संवेदनशील डेटा स्टोर करते हैं. उपयोगकर्ताओं के बड़े आकार और संख्या के कारण उनके द्वारा उपयोग किए जाने वाले अधिकांश नेटवर्क अक्सर पूरी तरह से सुरक्षित नहीं होते हैं.

आज से भारत में PUBG नहीं खेल पाएंगे यूजर्स, कंपनी ने बंद किया सर्वर

First published: 30 October 2020, 16:00 IST
 
अगली कहानी