Home » साइंस-टेक » Robots will do the work of nurse and assist doctors
 

ऑपरेशन थिएटर में भी अब डॉक्टर का हाथ बंटाएगा रोबोट

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 October 2016, 14:56 IST
(पत्रिका)

रोबोट को इंसानी दिमाग की बेहतरीन उपज में से एक माना जाता है. अब रोबोट का इस्तेमाल नर्सिंग गतिविधियों के लिए भी करने पर चर्चा हो रही है. अस्पताल में डॉक्टरों के साथ अब रोबोट भी काम करता नजर आ सकता है.

लंदन में इसको लेकर एक रिसर्च सामने आई है. शोध से यह जानकारी मिली है कि रोबोट इंसानी क्रिया-कलापों की हूबहू नकल कर सकते हैं. यही नहीं उनका इस्तेमाल शल्य क्रिया के लिए भी हो सकता है. 

नहीं थकता रोबोट का दिमाग

रिसर्च से पता चल चुका है कि रोबोट का दिमाग कभी थकता नहीं है, जबकि इंसान के मामले में ऐसा नहीं है. एक सीमा के बाद उस पर थकान हावी हो जाती है और इस दौरान वो गलतियां करने लगता है.

ऐसे में रोबोट की प्रासंगिकता बढ़ जाती है. क्योंकि वे इंसान की तरह गलतियां नहीं करते हैं. रोबोट बिना थके लगातार सही तरीके से काम कर सकते हैं. यह शोध द जर्नल फ्रंटियर इन रोबोटिक्स एंड एआई (कृत्रिम बुद्धिमत्ता) में प्रकाशित किया गया है.

रोबोट की कुशलता का फायदा

शोधकर्ताओं के मुताबिक इस तकनीक का मकसद सर्जरी जैसे बेहद जटिल काम को रोबोट के भरोसे छोडने का बिल्कुल नहीं है. हां इसके जरिए रोबोट की कार्य कुशलता का लाभ उठाया जा सकता है.

इटली की पॉलीटेक्निक यूनिवर्सिटी ऑफ मिलान के इलेना डे मोमी का कहना है, "हालांकि रोबोट को सहयोगियों जैसे नर्स के काम पर लगाने से रोजगार पर असर तो पड़ेगा, लेकिन वे रोजगार के मौके नहीं छीनेंगे. वे काम के दबाव का बोझ हल्का करेंगे और कई ऐसे काम भी करेंगे जो वे इंसानों से अच्छा कर सकते हैं. इनमें दवाइयों से लेकर औद्योगिक अनुप्रयोग तक शामिल हैं."

70 फीसदी गतिविधियां इंसान की तरह

बताया जा रहा है कि इस अध्ययन के दौरान शोधकर्ताओं के दल ने एक रोबोटिक हाथ को इंसानी क्रिया-कलाप की नकल उतारने की ट्रेनिंग दी. इस दौरान एक शख्स की ऐसी तस्वीरें खींची गईं, जिसमें वह किसी शल्य क्रिया विशेषज्ञ की तरह से औजारों का इस्तेमाल कर रहा है. इन तस्वीरों को फिर रोबोट के नेटवर्क में डाला गया. 

एक शख्स ने रोबोटिक हाथ को उन्हीं गतिविधियों को करने के लिए ऑपरेट किया. इस प्रक्रिया के दौरान करीब 70 फीसदी बार रोबोट की गतिविधियां इंसान की तरह रहीं. यानी रोबोट ने प्रभावी तरीके से इस काम को सीख लिया. 

ऐसे में अगर रोबोटिक हाथ हकीकत में इंसान के व्यवहार और गतिविधियों की नकल कर सकते हैं, तो मनुष्य और रोबोट मिलकर ऑपरेटिंग रूम में भी प्रभावी ढंग से काम कर सकते हैं.

First published: 10 October 2016, 14:56 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी