Home » साइंस-टेक » Samsung blamed faulty battery for fire issue in Galaxy Note 7 devices
 

बड़ा खुलासाः सैमसंग गैलेक्सी Note 7 में आग लगने की वजह इसकी खराब बैटरी ही थी

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 January 2017, 18:45 IST

दुनिया के दिग्गज स्मार्टफोन निर्माता सैमसंग ने सोमवार को बीते साल लॉन्च कंपनी के फ्लैगशिप स्मार्टफोन गैलेक्सी नोट 7 में आग लगने का दोष इसकी बैटरी पर थोंपा. इसकी वजह से ही कंपनी को पिछले साल भारी बदनामी का सामना करते हुए पहले अपने गैलेक्सी नोट 7 को वापस मंगाना पड़ा और बाद में इसका निर्माण भी बंद करना पड़ा था. 

इस वजह से सैमसंग को करोड़ों रुपये का नुकसान उठाने के साथ ही बदनामी का भी सामना करना पड़ा था.  सैमसंग द्वारा जारी बयान के मुताबिक, "आंतरिक और स्वतंत्र जांच के बाद यह निष्कर्स निकला कि गैलेक्सी नोट 7 में आग लगने की घटना की वजह इसकी बैटरी थीं." 

जानिए क्यों फटते हैं स्मार्टफोन?

सियोल में सैमसंग के मोबाइल बिजनेस के प्रमुख कोह डॉन्ग जिन ने कहा, "इस परेशानी और ग्राहकों को हुई असुविधा के लिए हम अपने क्षमाप्रार्थी हैं."

गौरतलब है कि दक्षिण कोरिया के सबसे बड़े व्यावसायिक संगठन सैमसंग ग्रुप का कारोबार वहां की जीडीपी के तकरीबन पांचवें हिस्से के बराबर है. सैमसंग ग्रुप की प्रमुख इकाई सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स है.

जानिए क्या है सैमसंग गैलेक्सी नोट 7 के फटने का कारण?

सितंबर 2016 में जब सैमसंग ने अपने स्मार्टफोन गैलेक्सी नोट 7 का रिप्लेसमेंट शुरू किया तो कंपनी ने दूसरी फर्म से बैटरी लीं, लेकिन यह भी फटना शुरू हो गईं, जिसके बाद कंपनी ने नोट 7 को खत्म करने का फैसला लिया.

अमेरिका में तकरीबन 19 लाख हैंडसेटों की बिक्री हुई थी और आग लगने की घटना के बाद प्रशासन द्वारा इस फोन के विमान में इस्तेमाल पर रोक लगा दी गई और यात्रियों के लगेज मेें भी इसे रखने पर मनाही की गई. दुनिया भर के तमाम मुल्कों में भी विमान में इस फोन को लेकर न चढ़ने के आदेश जारी किए गए.

बिना फटे हुए भी फोन हैं खतरनाक, बच्चों से रखने चाहिए  दूर

हालांकि पिछले साल तमाम परेशानियों का सामना करने वाली सैमसंग एक बार फिर से सैमसंग गैलेक्सी नोट 8 को संभवता अगले माह आयोजित होने वाली मोबाइल वर्ल्ड कांग्रेस के दौरान लॉन्च कर सकती है. 

हालांकि कंपनी के अधिकारी कोह ने कहा कि फोन में सुरक्षा का मुद्दा ध्यान रखते हुए इस नए फ्लैगशिप को पेश करने में देरी हो सकती है.

First published: 23 January 2017, 18:45 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी