Home » साइंस-टेक » The first consignment of Corona virus drug remdesivir will be found in these five states
 

Coronavirus : इन पांच राज्यों को मिलेगी कोरोना वायरस की दवा रेमडेसिवीर की पहली खेप

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 June 2020, 17:22 IST

Coronavirus : हैदराबाद स्थित दवा निर्माता, हेटेरो का कहना है कि वह यह 5,400 रुपये प्रति शीशी के अधिकतम खुदरा मूल्य पर पांच राज्यों को रेमडेसिवीर (remdesivir) का पहला सेट डिलीवर करेगी. कंपनी को गंभीर रूप से बीमार कोरोना वायरस रोगियों के इलाज के लिए गिलियड की एंटीवायरल ड्रग रेमडेसिवीर बनाने की मंजूरी दी गई है. हेटरो की दवा बाजार में Covifor नाम से उपलब्ध होगी. 

हेटेरो हेल्थकेयर ने एक बयान में कहा कि कंपनी कुल 20 हजार शीशियों के पहले सेट में 10-10 हजार की दो खेप महाराष्ट्र, दिल्ली, तमिलनाडु, गुजरात और हैदराबाद को भेजेगी. जबकि अगली खेप में एक सप्ताह के भीतर कोलकाता, इंदौर, भोपाल, लखनऊ, पटना, भुवनेश्वर, रांची, विजयवाड़ा, कोचीन, त्रिवेंद्रम और गोवा को आपूर्ति की जाएगी.


महाराष्ट्र, दिल्ली और तमिलनाडु सबसे अधिक कोरोना वायरस प्रभावित राज्य हैं. रेमडेसिवीर पहली दवा है जिसे मानव परीक्षणों में कोरोना वायरस के खिलाफ प्रभावी माना गया है. हालांकि अभी तक कोरोना वायरस के लिए कोई सिद्ध इलाज नहीं हैं. दक्षिण कोरिया, जापान और अमेरिका ने भी आपातकालीन उपयोग के लिए दवा को मंजूरी दे दी है.

हेटेरो ने कहा कि रेमडेसिवीर के अपने जेनेरिक संस्करण की कीमत 5,400 रुपये प्रति 100-मिलीग्राम शीशी है. कंपनी के प्रबंध निदेशक एम. श्रीनिवास रेड्डी ने कहा "भारत में कोविफोर का लॉन्च हम सभी के लिए एक महत्वपूर्ण उपलब्धि है. कोविफोर के माध्यम से हम अस्पताल में रोगी के इलाज के समय को कम करने की उम्मीद करते हैं. यह दवा बाजार में नहीं बेची जाएगी.

मंगलवार को फार्मा प्रमुख सिप्ला, जिसका यूएस-आधारित गिलीड साइंसेज इंक के साथ लाइसेंसिंग समझौता भी है, ने कहा कि एंटीवायरल ड्रग रेमेडीसिविर के अपने संस्करण की कीमत वह भारत में 5,000 रुपये कम रखेगा. दुनियाभर में भारत चौथा सबसे प्रभावित देश है. भारत में अब तक 4,73,105 मामले और 14,894 लोगों की मौत हो चुकी है.

पतंजलि की CORONIL पर महाराष्ट्र में भी प्रतिबंध, गलत विज्ञापन पर कार्रवाई की चेतावनी

Coronavirus Update : 24 घंटों में 16,922 नए मामले, 418 मौतें, जानिए राज्यों की स्थिति

First published: 25 June 2020, 17:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी