Home » साइंस-टेक » twitter ceo jack dorsey take so little salary in 2018
 

OMG! सिर्फ 97 रुपए है Twitter के CEO की सालभर की सैलरी, जानें क्यों है इनकी कम तनख्वाह

कैच ब्यूरो | Updated on: 12 April 2019, 11:11 IST

अगर हम किसी आम इंसान की सैलेरी की बात करें, तो आज के समय में 10 हजार से प्रतिमाह से उपर ज्यादातर लोगों की होती है, लेकिन ट्विटर जैसी बड़ी कंपनी के सीईओ की सैलेरी इतनी चौकाने वाली है. आप सोच रहे होंगे कि इतने बड़े कंपनी के सीईओ की सैलेरी इतनी कम कैसे हो सकती है?

ट्विटर के सीईओ जैक डोर्सी ने साल 2018 में इतनी कम ली है, जो बेहद ही चौकाने वाली है. जैक ने 2018 में सिर्फ 1.40 डॉलर (करीब 97 रुपए) सैलरी ली है. इतना ही नहीं आपको ये जानकर हैरानी होगी कि जैक ने साल 2015 में सीईओ बनने के बाद पहली बार सैलरी ली है, मतलब इससे पहले जैक ने ट्विटर से कोई सैलरी नहीं ली.

ट्विटर कंपनी ने यूएस सिक्योरिटीज ऐंड एक्सचेंज कमीशन (SEC) को बताया है कि जैक डोर्सी ने 2018 की सैलेरी के तौर पर महज 1.40 डॉलर लिए हैं. बता दें कि डोर्सी ट्विटर के को-फाउंडर हैं. जैक 2006 से 2008 तक कंपनी के शुरुआती दौर में सीईओ थे. 2008 में जैक ने इस पद से त्याग दिया. इसके बाद जैक फिर से 2015 में ट्विटर के सीईओ बने.

जैक को इसके बाद ती सालों यानि 2015, 2016 और 2017 के बीच कोई सैलेरी नहीं मिली. इसके साथ ही उन्हें मोबाइन पेमेंट कंपनी 'स्क्वायर' से भी 2.75 डॉलर सालाना की सैलरी मिलती है. जैक ने स्क्वायर कंपनी के अपने 17 लाख शेयर बेचे थे.

जैक को इसके बाद ती सालों यानि 2015, 2016 और 2017 के बीच कोई सैलेरी नहीं मिली. इसके साथ ही उन्हें मोबाइन पेमेंट कंपनी 'स्क्वायर' से भी 2.75 डॉलर सालाना की सैलरी मिलती है. जैक ने स्क्वायर कंपनी के अपने 17 लाख शेयर बेचे थे. फोर्ब्स मीडिया के अनुसार, जैक को इससे करीब 8 करोड़ डॉलर की कमाई हुई थी. जैक की फिलहाल कुल नेटवर्थ करीब 4.7 अरब डॉलर है, जिसमें स्क्वायर के करीब 3.9 अरब डॉलर भी शामिल हैं.

तलाक की अनोखी अर्जी, पत्नी बोली- नहीं नहाता पति, बदबू हटाने के लिए करता है ये काम

डोर्सी के करीब 60 करोड़ डॉलर कीमत के शेयर ट्विटर के पास भी हैं. वहीं, ट्विटर के फाउंडर इवान विलियम्स ने अप्रैल 2018 से अब तक अपने पास मौजूद ट्विटर के करीब 50 फीसदी शेयर बेच दिए या फिर दान कर दिए हैं.

बता दें कि जैक डोर्सी एक मात्र अकेले व्यक्ति नहीं हैं, जो सिर्फ एक डॉलर सैलरी लेते हैं. एक डॉलर सैलेरी लेने वालों में Facebok के सीईओ मार्क जुकरबर्ग, गूगल के लैरी पेज, सर्जे ब्रिन और ओरेकल के लैरी एलिसन के नाम भी इस लिस्ट में शामिल हैं. मार्क जुकरबर्ग ने साल 2012 में सालाना सैलरी और बोनस के तौर पर सिर्फ 7.70 लाख डॉलर लिए थे.

यहां की घड़ी में कभी नहीं बजते 12, जानें क्या है इसके पीछे का माजरा

क्यों लेते हैं ये अधिकारी इतनी कम सैलरी

अमेरिकी कंपनियों के बड़े-बड़े अधिकारियों के बीच एक डॉलर सैलरी लेने का रिवाज चल रहा है. हकीकत ये है कि ये अधिकारी अपने शेयर और अन्य तरीकों से इतनी कमाई कर लेते हैं कि इनको सैलरी की आवश्यकता नहीं होती. ये अधिकारी सैलरी ना लेकर अपने कंपनी के कर्मचारियों को संदेश देना चाहते हैं, इसलिए अच्छा संदेश देने के लिए प्रतीकात्मक रूप से ये अधिकारी एक डॉलर की सैलरी लेते हैं.

यहां मिली हजारों साल पुरानी पौराणिक वस्तुएं और ममी, देखकर लोगों की निकल गई चीख

First published: 12 April 2019, 11:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी