Home » साइंस-टेक » Two Black Hole collide: Astronomers hear biggest cosmic event since big bang
 

7 अरब साल पहले अंतरिक्ष में हुई थी दो ब्लैक होल की टक्कर, वैज्ञानिकों को अब सुनाई दी आवाज

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 September 2020, 13:17 IST

वैज्ञानिकों ने अरबों साल पहले दो ब्लैक होल के बीच हुई टक्कर के बाद एक नए आकार के ब्लैक होल के निर्माण की बात कही है. आसान भाषा में कहे तो वैज्ञानिकों ने आज तक खोजे गए दो ब्लैक होल की सबसे भारी टक्कर का पता लगाया है. वैज्ञानिकों का दावा है कि दो ब्लैक होल के बी यह टक्कर करीब 7 अरब साल पहले हुई थी, क्योंकि यह टक्कर पृथ्वी से इतनी दूर हुई, इसके कारण इस टक्कर के संकेत हमे अब मिले हैं. बताया जा रहा है कि इस घटना के बाद वैज्ञानिकों को ब्रह्मांड के जन्म के बारे में कुछ जानकारियां मिलेगीं.

वैज्ञानिकों ने बुधवार को जर्नल फिजिकल रिव्यू लेटर्स और एस्ट्रोफिजिकल जर्नल लेटर्स में परिणाम प्रकाशित किए हैं, जिसके अनुसार, जिन दो ब्लैक होल में टक्कर हुई उसमें एक ब्लैक होल लगभग हमारे सूर्य के द्रव्यमान का 66 गुना और दूसरा ब्लैक होल लगभग हमारे सूर्य के द्रव्यमान का 85 गुना था. यह दोनों आपस में टकराने से पहले कई बार काफी तेजी से एक दूसरे के करीब आए और एक दूसके के आसपास घूमे और फिर अंततः आपस में टकरा गए.


 

इस टक्कर के बाद एक विस्फोट हुआ और काफी अधिक मात्रा में ऊर्जा निकली. टक्कर के बाद जो विस्फोट हुआ उससे निकली शॉकवेव्स, गुरुत्वाकर्षण लहर के रूप में, अंतरिक्ष में प्रकाश की गति से चारों तरफ बढ़ने लगी. वहीं इन दो ब्लैक होल की टक्कर के बाद एक नए ब्लैक होल का निर्माण हुआ जिसका द्रव्यमान हमारे सूर्ज के द्रव्यमान का लगभग 142 गुना है.

अमेरिका और यूरोप के भौतिकविदों ने पिछले साल एलआईजीओ और कन्या नामक डिटेक्टरों का उपयोग करते हुए इन शॉकवेव्स को कैप्चर किया था. इन डिटेक्टर के माध्यम से वैज्ञानिकों को गुरुत्वाकर्षण तरंगों को ऑडियो सिग्नल के रूप में मिलते हैं, इसीलिए वैज्ञानिकों ने वास्तव में टक्कर की आवाज को सुना है. इस टक्कर की आवाज वैज्ञानिकों को सेकंड का दसवां के बराबर समय तक सुनाई दी है.

वैज्ञानिकों के अनुसार, यह घटना 7 अरब साल पहले हुई थी और तब जब हमारा ब्रह्मांड अपनी वर्तमान आयु का आधा था. ब्लैक होल की टक्कर पहले भी देखी जा चुकी है, लेकिन इसमें शामिल ब्लैक होल काफी छोटे थे, टक्कर के बाद वो इतने बड़े नहीं हो पाए, इसीलिए वैज्ञानिकों को इससे काफी उम्मीद है.

जब अमेरिका में गलत वैक्सीन लगाने के कारण 40 हजार बच्चों की जान पर मंडराने लगी मौत

First published: 3 September 2020, 11:38 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी