Home » साइंस-टेक » US company expelled Indian, removed 1200 Microsoft users account, sentenced to 2 years
 

US कंपनी ने भारतीय को नौकरी से निकाला तो डिलीट कर डाले 1200 Microsoft यूजर्स अकॉउंट

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 March 2021, 15:09 IST
Cyber Attack

एक भारतीय नागरिक को कैलिफोर्निया की एक अमेरिकी अदालत (US court in California) ने दो साल की सजा सुनाई है, जिस पर आरोप है कंपनी से निकाले जाने के बाद उसने 1,200 से अधिक लोगों के Microsoft यूजर्स अकॉउंट को डिलीट कर दिया था. एक रिपोर्ट के अनुसार दीपांशु खेर को तब गिरफ्तार किया गया था जब वह 11 जनवरी 2021 को भारत से अमेरिका वापस लौटा था और अपने अरेस्ट वारंट से अनजान था.

अटॉर्नी रैंडी ग्रॉसमैन ने कहा, ‘'यह नुकसान पहुंचाने का कृत्य कंपनी के लिए बेहद नुकसानदायक था.'' यूएस डिस्ट्रिक्ट कोर्ट की न्यायाधीश मर्लिन हफ ने फैसला सुनाते हुए कहा कि खेर ने जानबूझकर कंपनी पर ये हमला किया और यह हमला बदले की भावना से किया गया था. दो साल की हिरासत में रहने के अलावा जज हफ ने खेर को तीन साल की निगरानी और 567,084 अमेरिकी डॉलर का जुरमाना लगाया. यह वह राशि है, जिससे कंपनी इस नुकसान की भरपाई करेगी.


अदालत के दस्तावेजों के अनुसार खेर को 2017 से मई 2018 तक एक सूचना प्रौद्योगिकी परामर्श फर्म (information technology consulting firm) द्वारा नियुक्त किया गया था. कंपनी खेर के काम से असंतुष्ट थी और बाद में उसे कंसल्टिंग फर्म ने नौकरी से निकाल दिया. कहा गया है कि खेर इससे नाराज था और उसने बदला लेने के लिए इस तरह का कृत्य किया.  जनवरी 2018 में कंसल्टिंग फर्म ने खेर को कंपनी के मुख्यालय से हटा दिया. उसके कुछ महीने बाद जून 2018 में खेर दिल्ली भारत लौट आया.

भारत लौटने के दो महीने बाद 8 अगस्त 2018 को, खेर ने कार्ल्सबैड कंपनी (Carlsbad Company) के सर्वर को हैक कर लिया और 1,500 MS O365 यूजर्स अकाउंट में से 1,200 से अधिक को डिलीट कर दिया. आरोप है इस हमले ने कंपनी के कारोबार को को प्रभावित किया और दो दिनों के लिए कंपनी को पूरी तरह से बंद कर दिया.

Gold Price Today : सोने की कीमतों में फिर आयी गिरावट, अब इतने रह गए प्रमुख शहरों में 10 ग्राम के दाम

First published: 24 March 2021, 14:59 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी