Home » साइंस-टेक » Vivo showcased In-Display Fingerprint Sensor Technology, Expected launch on January 10 at CES 2018 Las Vegas, Clear ID, Synaptics
 

स्मार्टफोन के इतिहास में आज Vivo उठाएगी बड़ा कदम, यूजर्स को मिलेगा अनोखा डिस्प्ले

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 January 2018, 14:38 IST

दुनिया की दिग्गज स्मार्टफोन निर्माताओं में शामिल Vivo ने लास वेगास में चल रहे कंज्यूमर एंड इलेक्ट्रॉनिक शो (CES 2018) में एक अनोखा कारनामा कर दिखाया है. सपने को हकीकत में बदलते हुए Vivo ने स्मार्टफोन के इतिहास में पहली बार अनोखे फीचर्स से लैस डिस्प्ले पेश किया है.

मंगलवार को CES 2018 में Vivo ने घोषणा की थी कि वो इस इवेंट में दुनिया की पहली उत्पादन के लिए तैयार इन-डिस्प्ले फिंगरप्रिंट स्कैनिंग टेक्नोलॉजी को पेश करेगी. कंपनी ने यह घोषणा Synaptics से समझौते के एक सप्ताह बाद की है, इस गठजोड़ के बाद कंपनी Clear ID नाम की डिस्प्ले के भीतर ही लगी होने वाली फिंगरप्रिंट स्कैनिंग टेक्नोलॉजी लेकर आने वाली है.

इसके साथ ही Vivo अब बुधवार (10 जनवरी) को इस Clear ID से लैस अपने स्मार्टफोन को लॉन्च करने वाली है. दिलचस्प बात है कि Vivo ने इससे पहले क्वॉलकॉम से समझौता किया था और बीते वर्ष शंघाई में आयोजित हुए मोबाइल वर्ल्ड कांग्रेस (MWC 2017) के दौरान क्वॉलकॉम अंडर-डिस्प्ले फिंगरप्रिंट सेंसर के एक प्रोटोटाइप की झलक दिखाई थी.

Vivo द्वारा मंगलवार को दिए गए प्रजेंटेशन के मुताबिक कंपनी के आने वाले स्मार्टफोनों में ग्लास प्रोटेक्शन और OLED पैनल के बीच इन-डिस्प्ले फिंगरप्रिंट स्कैनिंग टेक्नोलॉजी को लगाया जाएगा. इससे पहले आए कुछ टीजर्स इस अनुभव की प्रशंसा करते हुए इसे 'तेज और आसान' बता चुके हैं.

अगर हम Synaptics पर भरोसा करें तो यह तकनीकी, 3D फेसियल रिकगनिशन जैसे अन्य बायोमेट्रिक्स तरीकों जितनी ही तेज और सुरक्षित है. इस फेसियल रिकगनिशन तकनीक का इस्तेमाल Apple FaceID में किया गया था.

अपने इस भविष्य की तकनीक की झलक दिखाने के अलावा Vivo ने एक टीजर भी रिलीज किया था जिसके साथ ही गई तस्वीर में 'अनलॉक द फ्यूचर' टैगलाइन दी गई थी और यह दुनिया के पहले इन-डिस्प्ले फिंगरप्रिंट रीडर की लॉन्चिंग की ओर ईशारा करती है.

चीन की वेबसाइट www.cnmo.com द्वारा जारी रिपोर्ट में खुलासा किया गया था कि कंपनी अपनी इस तकनीक को 10 जनवरी को लॉन्च करने वाली है. हालांकि अभी तक यह स्पष्ट नहीं हो सका है कि क्या Vivo का नया मॉडल वैश्विक बाजार के लिए उपलब्ध कराया जाएगा या नहीं और इसकी कितनी कीमत होगी. लेकिन Vivo के मौजूदा फोकस को देखते हुए यह अंदाजा जरूर लगाया जा सकता है कि लेटेस्ट टेक्नोलॉजी से लैस स्मार्टफोन जल्द ही भारत में आएगा.

इससे पहले दिसंबर 2017 में Synaptics ने दावा किया था कि इस साल (2018 में) इन-डिस्प्ले फिंगरप्रिंट सेंसर्स से लैस तकरीबन 7 करोड़ स्मार्टफोन बाजार में बिकेंगे.

बताया जा रहा है इन-डिस्प्ले फिंगरप्रिंट स्कैनिंग टेक्नोलॉजी के इस्तेमाल से बेहद पतले किनारों वाले OLED डिस्प्ले पैनल विकसित किए जा सकेंगे जिनमें 18:9 जैसे ऐस्पेक्ट रेशियो से भी लंबी स्क्रीन लगी होगी. Synaptics के Clear ID सेंसर्स को इसलिए विकसित किया गया है ताकि व्यापक रूप से उपलब्ध फिंगरप्रिंट सेंसिंग टेक्नोलॉजी को हटाया जा सके.

दावा किया गया है कि यह एडवांस्ड टेक्नोलॉजी 1.5 मिलीमीटर मोटे स्क्रीन प्रोटेक्टर के ऊपर से भी फिंगरप्रिंट्स की पहचान करने में सक्षम है. इस तकनीक का इस्तेमाल सूखी, ठंडी या फिर गीली अंगुली होने पर भी किया जा सकता है.

Vivo के वरिष्ठ उपाध्यक्ष एलेक्स फेंग द्वारा जारी एक प्रेस विज्ञप्ति में बताया गया, "उत्पादन के लिए तैयार इन-डिस्प्ले फिंगरप्रिंट स्कैनिंग स्मार्टफोन फीचर की आज दिखाई गई झलक ग्राहकों के लिए बहुप्रतीक्षित, भविष्य के मोबाइल अनुभव को लेकर आने की दिशा में एक बड़ा कदम है. हम ग्राहकों के लिए इसे जल्द ही उपलब्ध कराने को लेकर काफी उत्साहित हैं."

First published: 10 January 2018, 14:35 IST
 
अगली कहानी