Home » साइंस-टेक » What's two important work of your Car Seat headrest?
 

जानिए किन दो कामों के लिए कार सीट में हेडरेस्ट लगा होता है?

अमित कुमार बाजपेयी | Updated on: 28 April 2016, 15:56 IST

शहरों ही नहीं आजकल गांवों में भी कार से यात्रा करना सामान्य बात हो चुकी है. कार चलाने वाले और इनमें बैठने वाले अमूमन फ्यूल (पेट्रोल, डीजल, गैस), टायरों में हवा, म्यूजिक, एयर कंडीशनर और इसकी सफाई की ज्यादा चिंता करते हैं. लेकिन कार के अंदर लगाई गई चीजें किस लिए होती हैं इस पर शायद बहुत कम ही लोगों का ध्यान जाता है.

कार के अंदर लगा एक ऐसा ही महत्वपूर्ण हिस्सा सीट का हेड रेस्ट है. अमूमन कार में सवार लोगों को यह अजीब सा और आरामदायक नहीं लगता. कई बार लोग टशन या फिर आराम के लिए इसे अपनी सीट से निकलवा देते हैं. लेकिन शायद ही आपको पता हो कि कार सीट का यह हेडरेस्ट कितना ज्यादा जरूरी है. 

headrest ideal hightt.png

दरअसल कार सीट में लगाया जाने वाला हेडरेस्ट ज्यादातर डिटैचेबल (निकलने लायक) होता है. आपने भी कभी गौर किया हो तो इसके ऊपर तो सख्त फोम लगा होता है जबकि नीचे की ओर दो सरियानुमा हिस्से निकले होते हैं. जिन्हें कार की सीट में फंसा कर इन्हें फिट कर दिया जाता है. 

पढ़ेंः जानिए एसी और कार साथ-साथ चलाने का सबसे किफायती तरीका

लग्जरी कारों में तो इनके पीछे की तरफ एंटरटेनमेंट के लिए मल्टीमीडिया एलसीडी-एलईडी स्क्रीन लगा दी जाती है जो सफर में मनोरंजन के काम आती है. 

आइए आपको बताते हैं कि कार की सीट में लगा यह हेडरेस्ट महत्वपूर्ण क्यों होता हैः

एक्सीडेंट होने पर गर्दन का बचाव

कार सीट लगाने में हेडरेस्ट के पीछे प्रमुख उद्देश्य एक्सीडेंट (दुर्घटना) की स्थिति में कार यात्रियों को गर्दन की चोट से बचाने का होता है. कार सीट में लगा यह हेडरेस्ट औसत लंबाई के यात्रियों की गर्दन से ऊपर की ओर यानी खोपड़ी के पीछे होता है. 

head rest.jpg

तेज रफ्तार में चलती कार जब अचानक किसी दूसरे वाहन, दीवार, पेड़ या अन्य चीज से टकराती है तो सबसे पहले यात्री चलती गाड़ी की दिशा में आगे की ओर जाते हैं और फिर गाड़ी के एकाएक रुकने से वो इसी रफ्तार से पीछे की ओर जाते हैं. लेकिन वाहन में पीछे से टक्कर होने पर यात्री की गर्दन ज्यादा तेजी से पीछे जाती है. हालांकि दोनों ही मामलों गर्दन में चोट का खतरा रहता है.

पढ़ेंः कार चलाते समय कभी न करें ये पांच गलतियां

क्योंकि आजकल कार यात्री सीट बेल्ट लगाकर चलते हैं इसलिए एक्सीडेंट की स्थिति में वो सीट से बहुत ज्यादा आगे नहीं जा पाते और कार से बाहर जाने या डैशबोर्ड, स्टीयरिंग व्हील पर जोरदार टक्कर से बच जाते हैं. जबकि पीछे से टक्कर होने पर सीटे बेल्ट शरीर को आगे जाने से रोकती है लेकिन गर्दन ज्यादा तेजी से पीछे जाती है.

लेकिन एकाएक पीछे जाते वक्त यात्री के पैर, पीठ और कंधे तो सीट की बनावट के चलते पीछे जाने से रुक जाते हैं, पर यात्री की गर्दन आसानी से पीछे चली जाती है. सीट का हेडरेस्ट लगा होने से पीछे जाती गर्दन रुक जाती है और गर्दन की हड्डी की चोट से बचाव हो जाता है. 

अगर कार सीट में हेडरेस्ट हटा हुआ है तो फिर गर्दन बिल्कुल पीछे की ओर जाती है और कोई सहारा न मिलने से इसकी हड्डी के टूटने या फिर गंभीर चोट लगने का जबर्दस्त जोखिम होता है.

पढ़ेंः खाने का लोकलाइजेशनः विदेशी खाना देसी जायका

जापान स्थित इंस्टीट्यूट ऑफ ट्रैफिक एक्सीडेंट रिसर्च एंड डाटा एनालिसिस की मानें तो जब किसी वाहन में पीछे की ओर से टक्कर लगती है तो 91.80 फीसदी यात्रियों को गर्दन की चोट का सामना करना पड़ता है. जबकि 3.10 फीसदी लोगों के पेल्विक रीजन में, 2.60 फीसदी के सिर या चेहरे पर और बाकी के अन्य हिस्से पर चोट आती है.

इसलिए अगली बार से अपने वाहन और अपने किसी परिचित को जरूर इस बात से रूबरू कराएं कि हेडरेस्ट कितना महत्वपूर्ण है.

कार लॉक की स्थिति में शीशा तोड़ने के काम

हेडरेस्ट का यह काम भी बहुत महत्वपूर्ण है. आजकल की ज्यादातर कारें सेंट्रल लॉकिंग वाली होती हैं. दुर्घटना की स्थिति, इलेक्ट्रिकल फेलियर या फिर आग लगने की स्थिति में कार की सेंट्रल लॉकिंग के काम बंद कर देने और सारे दरवाजे-खिड़की लॉक हो जाते हैं. 

ऐसे तमाम हादसे हुए हैं जिनमें यात्री कार के अंदर ही फंस गया और बाहर नहीं निकल सका. आग या गैस के अंदर भरने से यात्री का दम घुट गया और वो मर गया. 

car seat headrestt.jpg

लेकिन ध्यान रखिए कि ऐसी किसी भी आपात स्थिति में आपकी कार सीट का हेडरेस्ट बहुत काम आ सकता है. कार के सेंट्रल लॉकिंग के फेलियर की स्थिति में आप सबसे पहले शांत रहें और सीट बेल्ट खोलकर सीट में लगे हेडरेस्ट को निकालें.

इस हेडरेस्ट के नीचे की ओर दो कीलीनुमा लंबी स्टील की छड़ें होती हैं. आप स्टील की इस रॉड का इस्तेमाल दरवाजों के शीशे तोड़ने के लिए कर सकते हैं. 

पढ़ेंः लैपटॉप चार्जर के सॉकेट के पास क्यों होता है यह काला गोल हिस्सा?

आपको केवल अपनी आंख-चेहरे का बचाव करते हुए विंड स्क्रीन या फिर दरवाजों के शीशे पर इन रॉड को जोर से मारना है और शीशे टूट जाएंगे और आप भी आसानी से बाहर निकल पाएंगे.

इन बातों पर ध्यान दें

removing car headrest.jpg

  • आपको आपकी कार में हेडरेस्ट कैसे लगाएं और हटाएं इसकी जानकारी होनी चाहिए.
  • अपनी कार के सर्विस सेंटर या शोरूम में जाकर आप इसे लगाने, हटाने की जानकारी ले सकते हैं.
  • इसकी हाइट कितनी होनी चाहिए इस बारे में भी आप कार कंपनी से जानकारी ले सकते हैं. 
  • सामान्यता यह आपके सिर की ऊंचाई से कम नहीं होनी चाहिए.
  • अगर हेडरेस्ट पिन से खुलते हैं तो कार में पिन हमेशा रखनी चाहिए.

First published: 28 April 2016, 15:56 IST
 
अमित कुमार बाजपेयी @amit_bajpai2000

पत्रकारिता में एक दशक से ज्यादा का अनुभव. ऑनलाइन और ऑफलाइन कारोबार, गैज़ेट वर्ल्ड, डिजिटल टेक्नोलॉजी, ऑटोमोबाइल, एजुकेशन पर पैनी नज़र रखते हैं. ग्रेटर नोएडा में हुई फार्मूला वन रेसिंग को लगातार दो साल कवर किया. एक्सपो मार्ट की शुरुआत से लेकर वहां होने वाली अंतरराष्ट्रीय प्रदर्शनियों-संगोष्ठियों की रिपोर्टिंग.

पिछली कहानी
अगली कहानी