Home » साइंस-टेक » WhatsApp rolls out video calling feature, Facebook optimized it for connectivity issues
 

व्हॉट्सऐप की वीडियो कॉलिंग सेवा शुरू, कमजोर नेटवर्क में भी हों एक-दूसरे से रूबरू

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 November 2016, 16:53 IST

दुनिया की सबसे प्रमुख इंस्टैंट मैसेजिंग सर्विस व्हॉट्सऐप ने मंगलवार को यूजर्स को अपनों से जुड़े रहने के लिए एक और नया जरिया मुहैया कराते हुए वीडियो कॉलिंग की शुरुआत कर दी. फेसटाइम और स्काइपी की तरह वीडियो कॉलिंग की यह सुविधा व्हॉट्सऐप ने पूरी तरह मुफ्त रखी है लेकिन इसके इस्तेमाल के लिए यूजर्स को वाई-फाई या मोबाइल डाटा का इस्तेमाल करना होगा.

रॉयटर्स को दिए साक्षात्कार में व्हॉट्सऐप के सह-संस्थापक जैन कौम ने कहा कि भारत में आयोजित एक कार्यक्रम में व्हॉट्सऐप के इस नवीनतम फीचर को जारी किए जाने के कुछ घंटों बाद ही इसे दुनिया भर के 180 मुल्कों में जारी कर दिया जाएगा. 

केवल 109 सेकेंड में बने व्हॉट्सऐप के मास्टर, जानें छिपे फीचर्स

फेसबुक के स्वामित्व वाली व्हॉट्सऐप ने यह भी घोषणा की कि भारत में उसके 16 करोड़ सक्रिय उपभोक्ता है, जो इसे अपनी सेवा का दुनिया में सबसे बड़ा बाजार बनाती है. व्हॉट्सऐप के मुताबिक यह नया वीडियो कॉलिंग फीचर भारत जैसे देशों के हर हिस्से में काम करने लायक बनाने और कमजोर इंटरनेट कनेक्टिविटी जैसे इश्यूज से निपटने के लिए ऑप्टिमाइज्ड किया गया है. 

कंपनी का यह भी कहना है कि हम अपने इन फीचर्स को सभी यूजर्स के लिए जारी करना चाहते हैं, न केवल उनके लिए जो महंगे डाटा प्लान, स्मार्टफोन और सबसे बेहतरीन सेल्युलर नेटवर्क वाले देशों में रहते हैं.

भोपाल के एक छात्र ने ढूंढ़ा व्हॉट्सऐप कॉलिंग का अनोखा तरीका

कौम के मुताबिक हम इस बात को पुख्ता करने के लिए प्रतिबद्ध है कि हमारी वॉयस और वीडियो कॉलिंग सेवा निम्न श्रेणी के फोन पर भी बेहतर तरीके से काम करे.

पूरी तरह एन्क्रिप्टेड रहेगी वीडियो कॉलिंग

सभी मैसेजेज और वॉयस कॉल की ही तरह व्हॉट्सऐप की वीडियो कॉल्स भी एंड टू एंड कंपलीट एन्क्रिप्टेड रहेंगी. इससे किसी भी सरकारी संस्थाओं या कंपनी के लिए इन संदेशों, कॉलों को देखना-सुनना या डिकोड करना तकनीकी रूप से असंभव हो जाएगा. 

यह नया वीडियो कॉलिंग फीचर यूजर्स को कम्यूनिकेशन का एक नया जरिया मुहैया कराएगा जिससे वो बिना किसी डर, कॉन्टैक्ट लिस्ट के चोरी होने या किसी अन्य डाटा के हैक होने की परवाह किए बनाए कम्यूनिकेट कर सकेंगे.

आईओएस, एंड्रॉयड और विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम के लिए

व्हॉट्सऐप का यह नवीनतम फीचर दुनिया भर में मौजूद आईओएस, एंड्रॉयड और विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम सपोर्ट करने वाली डिवाइसों के लिए धीरे-धीरे जारी कर दिया जाएगा. 

पिछले माह व्हॉट्सऐप ने एंड्रॉयड-विंडोज प्लेटफॉर्म वाले कुछ चुनिंदा यूजर्स के लिए अपने वीडियो कॉलिंग फीचर्स के बीटा वर्जन को टेस्टिंग के लिए जारी कर दिया था. इनमें से भारत समेत कुछ अन्य देशों के यूजर्स इस सेवा का इस्तेमाल कर पा रहे थे.

आसानी से करें वीडियो कॉल

यूजर्स जैसे अपने व्हॉट्सऐप मैसेंजर के जरिये वॉयस कॉल करते थे, ठीक इसी तरह बेहद आसानी से वीडियो कॉलिंग भी कर सकेंगे. इसके लिए जैसे ही आप किसी कॉन्टैक्ट के सामने बने कॉलिंग के बटन को प्रेस करेंगे, व्हॉट्सऐप आपसे पूछेगा कि आप वीडियो कॉल करना चाहते हैं या वॉयस कॉल. 

हालांकि जिन यूजर्स के पास व्हॉट्सऐप का लेटेस्ट वर्जन है वही वीडियो कॉलिंग का इस्तेमाल कर सकेंगे. इसलिए अगर आपका भी व्हॉट्सऐप अपडेट नहीं हुआ है तो इसे अपडेट कर लें.

बता दें कि एप्पल के फेसटाइम, माइक्रोसॉफ्ट के स्काइपी और गूगल के हाल ही लॉन्च किए गए ड्युओ के बाद फेसबुक द्वारा व्हॉट्सऐप के इस फीचर को जल्द लॉन्च करने की जिम्मेदारी बढ़  गई थी. 

First published: 15 November 2016, 16:53 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी