Home » खेल » Abhinav Bindra criticised that indian shooters wait for over 13 hours at igi airport
 

अभिनव बिंद्रा: शूटर्स को घंटों रोका, क्रिकेटर्स से क्या ऐसा सलूक होता?

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 May 2017, 16:59 IST
Abhivan Bindra

शूटिंग में देश के लिए इकलौता ओलंपिक स्वर्ण पदक जीतने वाले अभिनव बिंद्रा ने दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर भारतीय निशानेबाजों को 13 घंटे तक रोके रखने पर भारतीय राष्ट्रीय राइफल संघ (एनआरएआई) की जमकर आलोचना की है. सीमा शुल्क विभाग के अधिकारियों ने भारतीय खिलाड़ियों को उनके हथियारों के कारण रोके रखा था.

निशानेबाज चेक गणराज्य में प्लाजेन ग्रांप्री निशानेबाजी स्पर्धा में हिस्सा लेकर लौट रहे थे, जब उन्हें हवाई अड्डे से बाहर नहीं जाने दिया गया और घंटों रोके रखा गया. इस हादसे की आलोचना करते हुए बिंद्रा ने कहा कि निशानेबाज देश के राजदूत हैं. उन्होंने साथ ही कहा कि भारतीय क्रिकेट खिलाड़ियों के साथ क्या कभी इस तरह का व्यवहार किया जाएगा.

बिंद्रा ने कहा, "आईजीआई हवाई अड्डे पर राष्ट्रीय निशानेबाजी टीम को रोके रखने की खबर सुनकर दुखी हूं. सीमा शुल्क विभाग ने उनकी बंदूकों को उन्हें नहीं दिया." बिंद्रा ने नाराजगी जताते हुए कहा, "वह हमारे देश के राजदूत हैं. उनके साथ इस तरह का व्यवहार नहीं होना चाहिए. क्या ऐसा कभी भारतीय क्रिकेट टीम के साथ हो सकता है?"

उन्होंने बताया, "मैंने कुछ खिलाड़ियों से बात की है. राष्ट्रीय महासंघ का इस मामले पर जो रवैया रहा, वो निराशजनक है." वहीं पूर्व ओलम्पिक महिला निशानेबाज अंजली भागवत ने कहा कि इस तरह के हादसे नए नहीं हैं. उन्होंने इसके लिए एनआरएई और खिलाड़ियों के बीच संपर्क की कमी को जिम्मेदार ठहाराया है.

भागवत ने कहा, "क्या इस तरह से ओलंपिक खिलाड़ियों से बर्ताव किया जाता है? बड़े टूर्नामेंट से पहले यह खिलाड़ियों की मानसिक प्रताड़ना है. मैं जानती हूं कि जब ऐसा होता है तो कैसा लगता है." निशानेबाजों ने शिकायत की है कि इस मामले के कारण उन्होंने अपना कीमती समय गंवाया, जो वो अभ्यास में लगाते. 17 मई से म्यूनिख में निशानेबाजी का विश्व कप होने वाला है.

First published: 10 May 2017, 16:59 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी