Home » खेल » After Narsingh Yadav, roommate Sandeep Yadav too tested positive for doping
 

अब नरसिंह के पार्टनर फंसे डोप टेस्ट में, साजिश का शक गहराया

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 July 2016, 13:41 IST
(फाइल फोटो)

साई सेंटर सोनीपत में पहलवान नरसिंह यादव के कमरे में रहने वाले पहलवान संदीप तुलसी यादव भी डोप टेस्ट में फंस गए हैं. ग्रीकोरोमन में 66 किलोग्राम भार वर्ग में भारत की ओर खेलने वाले संदीप डोप टेस्ट में नाकाम रहे हैं. नरसिंह और संदीप के डोप टेस्ट में फंसने के बाद डब्ल्यूएफआई (भारतीय कुश्ती महासंघ) ने कहा कि इससे शक पक्का हो गया है कि इसमें कोई साजिश हुई है.

भारतीय कुश्ती महासंघ के सहायक सचिव विनोद तोमर ने कहा, "शिविर में नरसिंह के रूममेट को भी उसी पदार्थ के सेवन का दोषी पाया गया, जिससे साफ पता चलता है कि यह साजिश है, दोनों पहलवान रूममेट होने की वजह से एक ही सप्लीमेंट्स ले रहे थे."

इसके अलावा उन्होंने कहा, "उसके नमूने में स्टेरायड की मात्रा काफी ज्यादा मिली है. जिस पर यकीन करना मुश्किल है. लगता है कि जान-बूझकर ऐसा किया गया है. कोई इतना ज्यादा डोज क्यों लेगा." तोमर ने बताया कि डोप टेस्ट में सिर्फ दो ही खिलाड़ी नाकाम हुए हैं.

इससे पहले रविवार को पिछले साल वर्ल्ड चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीतने वाले नरसिंह यादव डोप टेस्ट में नाकाम हो गए थे. वह 74 किलोग्राम भार वर्ग में भारत की ओर से रियो ओलंपिक में दावेदारी पेश करने वाले थे. डब्ल्यूएफआई के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह ने कहा कि नरसिंह यादव के साथ अन्याय हुआ है. उन्होंने उम्मीद जताई कि जांच समिति इस मामले में न्याय करेगी.

बृजभूषण शरण सिंह ने कहा, "नरसिंह यादव ने लिखित रूप से यह दिया है कि उनके खिलाफ साजिश हुई है. मैं भी यही महसूस करता हूं और देश के लोग भी ऐसा ही सोचते हैं."

First published: 25 July 2016, 13:41 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी