Home » खेल » anurag-thakur-as-bcci-president-his-main-challenge-will-be-finances
 

अनुराग ठाकुर पर होगी बीसीसीआई की कमाई बढ़ाने की जिम्मेदारी

शौर्ज्य भौमिक | Updated on: 29 May 2016, 9:53 IST
121
करोड़

रुपये

दुनिया के सबसे शक्तिशाली धनी और शक्तिशाली क्रिकेट संगठन बोर्ड ऑफ कंट्रोल फॉर क्रिकेट इन इंडिया (बीसीसीआई) ने 22 मई को अपने नए प्रेसिडेंट का चुनाव कर लिया. नकदी से लबालब भरी बीसीसीआई के नियंत्रण के लिए सभी राज्यों के नेताओं में होड़ लगी रहती है. बीसीसीआई से जुड़े कुछ दिलचस्प आंकड़े आपको चौंका सकते हैं. आंकड़ों से यह पता चलता है कि बीसीसीआई के वित्त में गिरावट आई है.

121
करोड़

रुपये

  • 31 मार्च 2015 को समाप्त हुए वित्त वर्ष में अंतरराष्ट्रीय मैच से हुई कमाई.
  • 2013-14 में बीसीसीआई को अंतरराष्ट्रीय मैचों से 194 करोड़ रुपये का राजस्व मिला था.
  • कारण 2014-15 में अंतरराष्ट्रीय मैचों की संख्या में आई गिरावट.
  • इसके अलावा मीडिया को प्रसारण अधिकार बेचे जाने से हुई कमाई भी 2014-15 में घटकर 389 करोड़ रुपये हो गई. 2013-14 में बीसीसीआई को इससे 419 करोड़ रुपये की कमाई हुई थी.
  • 1,000
    करोड़

    रुपये

    • 2014 में इंडियन प्रीमियर लीग से हुई कमाई.
    • आईपीएल से 2013 में बीसीसीआई को 1,194 करोड़ रुपये की कमाई हुई थी.
    • कारण यह रहा कि 2014 में केवल 8 टीम ने आईपीएल में हिस्सा लिया जबकि 2013 में आईपीएल में खेलने वाले टीम की संख्या 9 थी.
    • हालांकि 2014 में संयुक्त अरब अमीरात में हुए मैच के लिए टिकट बिक्री से हुई आमदनी में बढ़ोतरी हुई.

    25

    • बीसीसीआई में शामिल समितियों की संख्या है.
    • इनमें से 23 विशेष समिति है. मसलन कानूनी समिति, मीडिया समिति और अनुशासन समिति.
    • सात वित्तीय समितियां हैं जबकि 6 ऑल इंडिया सीनियर सेलेक्शन समिति है.आईपीएल गवर्निंग काउंसिल में 14 समितियां हैं जबकि मार्केटिंग कमेटी में 29 समितियां हैं.
    • अनुराग ठाकुर 25 समितियों में से 15 में सदस्य हैं.

    86
    करोड़

    रुपये

    • बीसीसीआई को 2014-15 में फिक्स्ड डिपॉजिट के ब्याज से आमदनी हुई.
    • 2013-14 में यह आय 121 करोड़ रुपये रही थी.
    • आय में गिरावट की बड़ी वजह वित्तीय बाजार में ब्याज दरों में आई गिरावट रही.
    • हालांकि बैंकों के साथ बेहतर शर्तों के साथ हुए निवेश की वजह से बीसीसीआई को अच्छी आमदनी होती है.

    928
    करोड़

    रुपये

    • 2014-15 में क्रिकेट से जुड़े ऑपरेशंस पर खर्च हुई रकम है.
    • पिछले साल यह रकम 516 करोड़ रुपये थी.
    • 2014-15 में बजटीय अधिशेष की रकम 1,937 करोड़ रुपये रही.

    9

    • बीसीसीआई के पदाधिकारियों की संख्या है.
    • इनमें प्रेेसिडेंट, मानद सचिव, मानद महासचिव, मानद खजांची औरर पांच वाइस प्रेसिडेंट हैं जो भारत के विभिन्न क्षेत्रों का प्रतिनिधित्व करते हैं.
    • इसके अलावा 23 सदस्य वर्किंग कमेटी से आते हैं.
    • 9 पदाधिकारियों के अलावा पांच स्थायी टेस्ट सेंटर हैं. इसके अलावा पांच स्टेट क्रिकेट एसोसिएशंस और चार स्टेट क्रिकेट एसोसिएशंस हैं जिन्होंने पिछले दो सालों में टेस्ट मैचों का आयोजन किया है. वर्किंग कमेटी में इन्हें भी शामिल किया गया है.

    First published: 29 May 2016, 9:53 IST
     
    शौर्ज्य भौमिक @sourjyabhowmick

    संवाददाता, कैच न्यूज़, डेटा माइनिंग से प्यार. हिन्दुस्तान टाइम्स और इंडियास्पेंड में काम कर चुके हैं.

    पिछली कहानी
    अगली कहानी