Home » खेल » Arjun Tendulkar selection row: pranab defends tendulkar
 

तेंदुलकर के बचाव में उतरे प्रणब धनावड़े

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:50 IST
(फाइल फोटो)

वेस्ट जोन की अंडर 16 टीम में सचिन तेंदुलकर के बेटे अर्जुन तेंदुलकर के चयन पर सोशल मीडिया में जारी विवाद के बीच प्रणब धनावड़े ने अर्जुन का समर्थन किया है.

ताजा विवाद वेस्ट जोन की अंडर 16 टीम के चयन के बाद हुआ. सोशल मीडिया पर कई लोगों ने प्रणब के टीम में शामिल नहीं होने पर सवाल उठाए.

प्रणव ने एक समाचार वेबसाइट से कहा कि उनका रिकॉर्ड बनने से पहले ही मुंबई अंडर 16 की टीम बन चुकी थी. वेस्ट जोन की टीम का चुनाव मुंबई और राज्य के मैचों के प्रदर्शन के आधार पर होता है.

शानदार, जबर्दस्त, जिंदाबाद: क्रिकेटर प्रणव धनावड़े के बेमिसाल कारनामे

प्रणव बताते हैं, 'अर्जुन ने राज्य के सभी मैच में अच्छा प्रदर्शन किया था. इसलिए उनका चयन हुआ. मैंने अर्जुन को इसकी बधाई भी दी थी. अब मुझे अंडर 19 में चुने जाने की उम्मीद है.'

वहीं प्रणव धनावड़े के पिता प्रशांत धनावड़े ने कहा कि उनके बेटे और अर्जुन को लेकर सोशल मीडिया में गलत खबर फैलाई जा रही है.

थाणे में आटो रिक्शा चलाने वाले प्रशांत कहते हैं कि उनके बेटे के रिकॉर्ड के पहले ही मुंबई की टीम चुनी जा चुकी थी. जिसे मुंबई अंडर 16 में खेलने का मौका मिलता है, वही बाद में जोनल के लिए चुना जाता है. प्रशांत के अनुसार प्रणव ने मुंबई नहीं खेला था, तो जोनल के लिए चुना जाना संभव ही नहीं था.

आपको बता दें कि अर्जुन तेंदुलकर का चयन पिछले साल नवंबर में मुंबई अंडर-16 टीम में हो गया था. अर्जुन का चयन टीम में हरफनमौला खिलाड़ी के तौर पर हुआ है. वे बाएं हाथ से तेज गेंदबाजी और बाएं हाथ से ही बल्लेबाजी करते हैं.

इस साल जनवरी महीने में मुंबई के एचटी भंडारी इंटर स्कूल कप अंडर-16 क्रिकेट टूर्नामेंट में प्रणव ने क्रिकेट इतिहास की सबसे बड़ी पारी खेली थी. उन्होंने 323 गेंदों पर नाबाद 1009 रन बनाए. इसके बाद वे चर्चा में आ गए थे.

प्रणब की इस पारी के बाद सचिन तेंदुलकर ने उनसे मुलाकात भी की थी और उन्हें एक बल्ला भेंट किया था. प्रणब अपनी टीम की ओर से सलामी बल्लेबाज के तौर पर खेलते हैं. साथ ही वे विकेटकीपिंग भी करते हैं.

First published: 1 June 2016, 4:52 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी