Home » खेल » BCCI: Pak umpire asad rauf banned for five years on spot fixing
 

बीसीसीआई ने पाक अंपायर रऊफ पर लगाया पांच साल का बैन

कैच ब्यूरो | Updated on: 12 February 2016, 19:39 IST

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने सट्टेबाजी में दोषी पाये गये पाकिस्तान के अंतरराष्ट्रीय अंपायर असद रऊफ को पांच सालों के लिए प्रतिबंधित कर दिया है. 

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक बीसीसीआई ने शुक्रवार को सट्टेबाजी के आरोपी पाकिस्‍तानी अंपायर असद रऊफ पर पांच साल का बैन लगा दिया है.

क्रिकेट बोर्ड की अनुशासन समिति ने अपनी जांच में रऊफ पर लगे आरोपों को सही पाया. बोर्ड के अनुसार रऊफ की गतिविधियों से न ही सिर्फ भारतीय क्रिकेट बल्कि विश्व क्रिकेट की छवि को गहरा धक्का लगा है.

रऊफ आईसीसी के एलीट पैनल में शामिल विश्व क्रिकेट के जानेमाने अंपायर हैं. रऊफ पर आरोप था कि उन्होंने साल 2013 में आईपीएल में सटोरियों से महंगे गिफ्ट लिए और सट्टा भी खेला. इसके अलावा रऊफ पर आईपीएल मैच में पहले या बाद में मैच की अंदरुनी जानकारी को सटोरियों के साथ साझा करने का भी दोषी पाया गया.

इस मामले में मुंबई पुलिस ने साल 2013 में मुंबई की एक अदालत में असद रऊफ़ के खिलाफ सट्टेबाज़ी और धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया. असद रऊफ़ मुंबई पुलिस के इन आरोपों को गलत बताया था.  

गौरतलब है कि साल 2013 में स्पॉट फ़िक्सिंग के आरोप में राजस्थान रॉयल्स के तीन खिलाड़ियों श्रीसंत, अजित चंडीला और अंकित चव्हाण की गिरफ्तारी भी हुए थी.

इसी मामले में अभिनेता बिंदू दारा सिंह और चेन्नई सुपर किंग्स से जुड़े गुरुनाथ मयपन्न भी गिरफ़्तार हुए थे और इस मामले में राजस्थान रॉयल्सके मालिक राज कुंद्रा की संलिप्तता भी पाई गई थी.

बीसीसीआई अध्यक्ष शशांक मनोहर की अगुआई वाली अनुशासन समिति ने रऊफ के खिलाफ बैन का फैसला लिया है. बीसीसीआई की ओर से जारी बयान में कहा गया कि, 'रऊफ पर बोर्ड या उसके सहयोगियों से जुड़ी अंपायरिंग, खेलने या क्रिकेट में किसी भी तरह की गतिविधियों पर पांच सालों के लिए बैन लगाया गया है.

रऊफ इस मामले में अपना पक्ष रखने के लिए अनुशासन कमेटी के सामने पेश नहीं हुए. रऊफ ने सट्टेबाजी के मामले में अपना लिखित बयान 8 जनवरी 2016 को बोर्ड को भेजा था.'

First published: 12 February 2016, 19:39 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी