Home » खेल » Coronavirus MS Dhoni donate one lakh Fans Trolled
 

लॉकडाउन ने तोड़ी दिहाड़ी मजदूरों की कमर तो मदद के लिए सामने आए धोनी

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 March 2020, 15:36 IST

कोरोनावायरस (Coronavirus) महामारी ने लगभग पूरी दुनिया को घर पर रहने के लिए मजबूर कर दिया है. कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में भारत 14 अप्रैल कर लॉक डाउन (Lock Down in India) है ताकि वायरस के संचरण को तोड़ा जा सके. हालांकि, इस लॉकडाउन ने दिहाड़ी मजदूरों के परिवारों के लिए मुश्किलें खड़ी कर दी हैं. वो सभी लोग जो रोज कमाते हैं और खाते हैं इस लॉक डाउन के कारण वो सबसे ज्यादा प्रभावित हुए हैं. ऐसे में राज्य सरकारों के साथ साथ कई एनजीओ भी सामने आ रहे हैं और वो इन लोगों की लगातार मदद कर रहे हैं.

महाराष्ट्र भारत में कोरोना वायरस से बुरी तरह से प्रभावित राज्यों में से एक है. राज्य में अभी तक 120 से अधिक लोग इस वायरस से संक्रमित पाए गए हैं. वहीं पुणे महाराष्ट्र के उन शहरों में से एक है, जहां राज्य में अधिक मामले देखे गए हैं. ऐसे में पुणे में लॉक डाउन का सख्ती से पालन किया जा रहा है. लेकिन इससे देहा़ड़ी मजदूरों को काफी नुकसान पड़ा है. ऐसे में धोनी सामने आए हैं उन्होंने पुणे के पब्लिक चैरिटेबल ट्रस्ट मुकुल माधव फाउंडेशन को क्राउड फंडिंग वेबसाइट केटो के जरिए एक लाख डोनेट किया है.


इस ट्रस्ट ने कोरोना वायरस के खिलाफ जारी जंग के दौरान 12.5 लाख रुपये क्राउड फंडिंग से हासिल करने का लक्ष्य रखा था और वो 12 लाख से ज्यादा जुटा चुका हैं. एमएस धोनी दिहाड़ी मजदूरों की मदद के लिए आगे आए जिसके कारण कुछ लोग उनकी तारीफ कर रहे हैं.बता दें, इस ट्रस्ट ने क्राउड फंडिंग के जरिए जो भी 12 लाख रूपये जुटाए हैं उसमें सबसे ज्यादा धोनी ने ही दिए हैं.

बता दें, टीम इंडिया (Team India) के पूर्व कप्तान से पहले बीसीसीआई (BCCI) अध्यक्ष सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) ने 50 लाख के चावल डोनेट करने का फैसला किया है जबकि टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाज शिखर धवन (Shikhar Dhawan) ने भी प्रधानमंत्री राहत कोष में डोनेट किया है और लोगों से अपील की है कि वो भी प्रधानमंत्री राहत कोष में दान करें.

स्पेन में कोरोना वायरस के कारण हालत हुए बेकाबू, फंसी हुई है भारतीय खिलाड़ी

First published: 27 March 2020, 13:53 IST
 
अगली कहानी