Home » खेल » Cricket video: Rawanda's Eric marathon batting for 51 hours grabs guinness world record
 

क्रिकेट वीडियोः 51 घंटों की मैराथन बैटिंग कर एरिक ने बनाया गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 May 2016, 16:34 IST

दुनिया भी अजब-गजब लोगों से भरी हुई है. हालांकि बगैर जुनून के अपने मन की करना आसान नहीं होता. ऐसे ही एक क्रिकेटर हैं एरिक डुसिंगजिमाना, जिन्होंने आज तक के इतिहास में लगातार दो दिन से ज्यादा (51 घंटे) की मैराथन बैटिंग करते हुए गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में अपना नाम दर्ज कराया है.

tony blair & rawanda cicketer.jpg

एरिक से हाथ मिलाते टोनी ब्लेयर (साभारः इंस्टाग्राम)

रवांडा के युवा क्रिकेटर और टीम कप्तान 29 वर्षीय एरिक डुसिंगजिमाना ने लगातार 51 घंटों तक नेट पर बैटिंग की और भारतीय क्रिकेटर के विश्व रिकॉर्ड को धराशायी कर दिया. हालांकि एरिक के इस काम के पीछे की वजह कोई रिकॉर्ड कायम करना नहीं था, बल्कि उन्होंने यह काम चैरिटी के लिए किया.

eric-dusingizimana rwanda.jpg

परिजन और साथी खिलाड़ियों के साथ एरिक (साभारः इंस्टाग्राम)

एरिक ने इससे पहले भारतीय मूल के विराग मारे के 50 घंटों तक लगातार बल्लेबाजी के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ते हुए अपना नाम दर्ज कराया. बता दें इससे पहले इंग्लैंड के डेव न्यूमैन और रिचर्ड वेल्स इस रिकॉर्ड को अपने नाम किए हुए थे.

मिलिए दुनिया के 10 सबसे अमीर क्रिकेटर्स से

वही, पाकिस्तान के हनीफ मोहम्मद ने 1958 में वेस्टइंडीज के खिलाफ 337 रनों की विशालकाय पारी के दौरान लगातार तीन दिनों तक टेस्ट मैच खेलते हुए बल्लेबाजी की थी. हनीफ के नाम 16 घंटे और 10 मिनट तक बल्लेबाजी करने का रिकॉर्ड कायम है.

वहीं, एरिक ने रवांडा क्रिकेट स्टेडियम फाउंडेशन के चैरिटी सेशन के दौरान यह ऐतिहासिक कारनामा किया. इससे मिलने वाली रकम का प्रयोग रवांडा में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम के निर्माण में किया जाएगा.

जानिए क्या थे इन 10 क्रिकेटर्स के पुराने धंधे

इसके लिए 11 मई 2016 की सुबह 7 बजे से एरिक ने नेट पर अभ्यास करना शुरू किया जो 13 मई तक जारी रहा. एरिक का यह कारनामा इसलिए और ज्यादा महत्वपूर्ण हो जाता है क्योंकि वहां मौजूद प्रमुख मेहमानों में पूर्व ब्रिटिश प्रधानमंत्री टोनी ब्लेयर भी थे.

eric-dusingizimana rawandan.jpg

बल्लेबाजी करते एरिक (साभारः इंस्टाग्राम)

हालांकि एरिक की इस मैराथन पारी से एक बात तो साबित हुई कि उनमें जबर्दस्त स्टैमिना, सामर्थ्य, संयम और संजीदगी है जिसके चलते इतने लंबे वक्त तक वे खड़े हुए खेलते रहे. 

First published: 15 May 2016, 16:34 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी