Home » खेल » Day-night Test against New Zealand was not feasible: BCCI Joint Secretary
 

न्यूजीलैंड के खिलाफ नहीं होगा डे-नाइट टेस्ट

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 July 2016, 18:02 IST

भारत और न्यूजीलैंड के बीच सितंबर-अक्तूबर में होने वाले टेस्ट सीरीज का एक भी मैच डे-नाइट फॉर्मेट में नहीं खेला जाएगा. बीसीसीआई अध्यक्ष अनुराग ठाकुर ने अप्रैल में कहा था कि भारत और न्यूजीलैंड के बीच एक डे-नाइट टेस्ट मैच खेला जाएगा, लेकिन अब सभी मैच दिन में ही होंगे.

बीसीसीआई के संयुक्त सचिव अमिताभ चौधरी ने कहा, ‘बीसीसीआई ने हमेशा से कहा है कि वह दलीप ट्रॉफी में प्रयोग के बाद डे-नाइट टेस्ट का आयोजन करेगा. आप हालात का परीक्षण किए बगैर और खिलाड़ियों व सभी संबंधित लोगों की प्रतिक्रिया के बगैर इतने बड़े मैच का आयोजन नहीं कर सकते.'

इंग्लैंड या ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ डे-नाइट टेस्ट के आयोजन की संभावना पर चौधरी ने कहा, ‘जैसा कि मैंने कहा, दलीप ट्रॉफी में प्रयोग के बाद हम इस पर फैसला करेंगे. भारत में जो पहले नहीं हुआ उसके आयोजन को लेकर आपको सौ फीसदी सुनिश्चित होना होगा.’

दलीप ट्रॉफी का पूरा टूर्नामेंट डे-नाइट फॉर्मेट पर

दलीप ट्रॉफी का पूरा टूर्नामेंट डे-नाइट फॉर्मेट पर होगा. भारतीय टीम न्यूजीलैंड, इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ घरेलू मैदान पर करीब 13 टेस्ट मैच खेलने वाली है. बीसीसीआई के अनुसार टेस्ट के सभी संभावितों और युवा खिलाड़ियों को गुलाबी गेंद का आदी होने का मौका दिया जाएगा.

भारत में टेस्ट मैचों में 'एसजी टेस्ट' गेंद का इस्तेमाल किया जाता है, लेकिन दलीप ट्रॉफी में गुलाबी कूकाबूरा का उपयोग किया जाएगा.

इसी महीने बीसीसीआई अध्यक्ष अनुराग ठाकुर ने कहा था कि दलीप ट्रॉफी में टेस्ट टीम के कप्तान विराट कोहली समेत शीर्ष भारतीय टेस्ट खिलाड़ी खेल सकते हैं. इसी वजह से दलीप ट्रॉफी का फॉर्मेट भी बदला गया है. दलीप ट्रॉफी में इस बार अंतर-क्षेत्रीय प्रणाली की जगह चयन पैनल की ओर से अखिल भारतीय स्तर पर चुनी गई चार टीमों को लिया जाएगा.

एडिलेड में खेला गया पहला डे-नाइट टेस्ट

पिछले साल 27 नवंबर को ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के बीच एडिलेड में टेस्ट इतिहास का पहला डे-नाइट मैच खेला गया. इस मैच में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहली बार गुलाबी रंग की गेंद का इस्तेमाल हुआ.

दिलचस्प बात यह है कि एडिलेड टेस्ट केवल तीन दिनों में खत्म हो गया. न्यूजीलैंड पहली पारी में महज 202 और दूसरी पारी में 208 रन बनाकर ऑलआउट हो गई.

वहीं, ऑस्ट्रेलिया की पहली पारी 224 रनों पर सिमट गई. दूसरी पारी में उसने सात विकेट खोकर 187 रन बनाए. ऑस्ट्रेलिया ने इस मैच में तीन विकेट से जीत हासिल की थी. मैन ऑफ द मैच तेज गेंदबाज जोश हेजलवुड ने मैच में नौ विकेट लिए थे. 

First published: 1 July 2016, 18:02 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी