Home » खेल » DDCA Secretary Vinod Tihara in Meerut jail not in Quarantine
 

डीडीसीए के महासचिव 1900 करोड़ के आरोप में है जेल में बंद, नहीं है कोरोना वायरस- रिपोर्ट

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 April 2020, 21:34 IST
DDCA Secretary Vinod Tihara

दिल्ली और डिस्ट्रिक्ट्स क्रिकेट एसोसिएशन (DDCA) के महासचिव पद पर जब से विनोद तिहारा (DDCA Secretary Vinod Tihara) आए हैं तब से ही वो किसी ना किसी कारण विवाद में रहे हैं. वहीं हाल ही में एक मीडिया रिपोर्ट में इस बात का दावा किया गया कि तिहाड़ ने स्वयं को अलग कर लिया क्योंकि वह कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमित हैं. एक और रिपोर्ट में कहा गया है कि विनोद तिहारा अब COVID-19 से उबर चुके हैं, लेकिन वो अभी भी क्वारंटाइन में रहना चाहते हैं.

वहीं एक अन्य मीडिया रिपोर्ट में विनोद तिहारा को लेकर दिलचस्प खुलासा किया गया है. टाइम्स ऑफ इंडिया कि एक रिपोर्ट के अनुसार, विनोद तिहारा वास्तव में मेरठ जेल में है. विनोद तिहारा से पिछले महीने से ही संपर्क नहीं हो पा रहा था, जिसने डीडीसीए के अधिकारी को यह विश्वास दिलाया कि तिहाड़ कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं और उन्होंने खुद को क्वारंटाइन करने का फैसला लिया है.

ये भी पढ़े- जब 'आलू' कहने पर चिढ़ गया था पाकिस्तान का खिलाड़ी, भारतीय फैंस को मारने घुसा था क्राउड में, हुआ था खूब वबाल

रिपोर्ट की मानें तो, जीएसटी मानदंडों का उल्लंघन करने के लिए तिहाड़ जेल में है. रिपोर्ट में मेरठ के एसएसपी अजय साहनी के हवाले से लिखा गया है कि डीडीसीए के महासचिव को पिछले महीने नोएडा के डीआरआई विंग ने जीएसटी मानदंडों के उल्लंघन के आरोपों में गिरफ्तार किया था. अजय साहनी ने कहा,'विनोद तिहारा नामक एक दिल्ली निवासी को 17 मार्च को नोएडा के राजस्व खुफिया निदेशालय (डीआरआई) विंग द्वारा गिरफ्तार किया गया था और वर्तमान में मेरठ जेल में है.'

मेरठ जेल अधीक्षक डॉ बीपी पांडे ने सचिव के खिलाफ आरोपों पर अधिक जानकारी दी. पांडे ने कहा,'विनोद तिहारा, दिल्ली के रोहिणी का निवासी है, जो 17 मार्च से मेरठ की जेल में है. मामला 2/20 का है और उस पर सीमा शुल्क अधिनियम 132 और 135 के तहत आरोप लगाए गए हैं.'

ये भी पढ़े- वेस्टइंडीज क्रिकेट बोर्ड में गहराया आर्थिक संकट, जनवरी से नहीं मिल पाई है खिलाड़ियों को मैच फीस

मीडिया रिपोर्ट की मानें तो विनोद तिहारा को 1900 करोड़ के महाघोटाले के आरोप में गिरफ्तार किया गया है. लेकिन अभी यह साफ नहीं है कि आखिर उनकी गिरफ्तारी से लेकर अदालत में उनकी पेशी तक को आखिर क्यों गोपनिय रख गया है.

हालांकि, अधिकारिक तौर पर तिहाड़ की गिरफ्तारी के लिए कोई स्पष्ट जानकारी नहीं है. DDCA सचिव के रूप में, तिहाड़ा BCCI कार्यालय में दिल्ली के प्रतिनिधि और राज्य क्रिकेट बोर्ड के लिए एक महत्वपूर्ण व्यक्ति के रूप में रहे हैं. डीडीसीए के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि उनके परिवार ने सूचित किया था कि वह क्वारंटाइन में हैं. अधिकारी ने बताया कि बोर्ड मार्च के मध्य से विनोद से संपर्क नहीं कर सका है.

डीडीसीए के एक सीनियर अधिकारी ने पीटीआई को दिए इंटरव्यू में कहा,'बहुत लंबे समय तक हमें ये लगा था की विनोद जी को कोरोना वायरस हो गया है. उनके परिवार से बात करने पर एक या दो लोगो को बताया गया की वो आइसोलेटेड हैं. उनका फ़ोन पिछले एक महीने से बंद है.'

जब 'आलू' कहने पर चिढ़ गया था पाकिस्तान का खिलाड़ी, भारतीय फैंस को मारने घुसा था क्राउड में, हुआ था खूब वबाल

First published: 23 April 2020, 19:58 IST
 
अगली कहानी