Home » खेल » Dhoni's lack of form and multiple injuries pulling Rising Pune Supergiants down
 

आईपीएल: इस बार चूक सकते हैं धोनी

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 May 2016, 16:34 IST

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में ऐसा पहली बार हो सकता है कि महेंद्र सिंह धोनी की अगुवाई वाली टीम अंतिम चार में जगह ना बना पाए.

आईपीएल के नौवें संस्करण में धोनी की टीम राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स अंकतालिका में नीचे से दूसरे स्थान पर है. पुणे ने दस मैचों में केवल तीन मैच जीते है, जबकि सात बार उसे हार का सामना करना पड़ा है.

पुणे की टीम को अभी चार मैच और खेलने हैं. क्वालीफायर की रेस में बने रहने के लिए उसे सभी मैच जीतने होंगे. हालांकि, आखिरी चार मैच जीतकर भी उसे दूसरे टीमों के परिणामों पर निर्भर रहना पड़ेगा.

पढ़ें: जानिए 5 कारण पुणे की पांचवीं हार के

चेन्नई सुपरकिंग्स का शानदार रिकॉर्ड

पुणे से पहले धोनी चेन्नई सुपरकिंग्स के कप्तान थे. उनकी कप्तानी में चेन्नई सुपरकिंग्स हमेशा टॉप-4 टीमों में शामिल रही है. इसके अलावा चेन्नई सुपरकिंग्स ने आईपीएल के पिछले आठ फाइनल में रिकॉर्ड छह बार फाइनल खेला है.

धोनी ने 2010 और 2011 में चेन्नई सुपरकिंग्स को अपनी कप्तानी में खिताब दिलाया है. 2010 के फाइनल में चेन्नई ने मुंबई इंडियंस को 22 रनों से हराया था जबकि 2011 में उसने रॉयल चैलेंजर्स बंगलुरू को 58 रनों से शिकस्त दी थी.

धोनी अब भी आईपीएल में शीर्ष कप्तान बने हुए हैं. उन्होंने 139 मैचों में कप्तानी की है, जिसमें उनकी टीम को 81 मैच में जीत मिली, जबकि 57 मैच में हार का सामना करना पड़ा है.

आईपीएल: कप्तानी में कोई नहीं धोनी के टक्कर में

चेन्नई सुपरकिंग्स और राजस्थान रॉयल्स पर दो साल का प्रतिबंध लगने के बाद इस बार आईपीएल में राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स और गुजरात लायंस दो नई टीमें आईपीएल खेल रही है.

पुणे टीम के कप्तान धोनी हैं, जबकि लायंस की कप्तानी का जिम्मा सुरेश रैना संभाल रहे हैं. दिलचस्प बात है कि चेन्नई की टीम में धोनी की कप्तानी में खेलने वाले सुरेश रैना की टीम लायंस अंकतालिका के शीर्ष पर है. लायंस अब तक खेले 11 मैच में सात बार विजयी रहा है.

टीम में बार-बार बदलाव

धोनी अक्सर एक ही एकादश के साथ पूरे टूर्नामेंट में खेलने के लिए जाने जाते हैं. इस बार उन्हें टीम संयोजन में काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा है. चोटिल खिलाड़ियों की वजह से धोनी हर बार आखिरी एकादश में बदलाव करने के लिए मजबूर हुए हैं.

kevin.jpg

पुणे के सलामी बल्लेबाज फॉफ डू प्लेसिस, केविन पीटरसन, स्टीव स्मिथ और मिशेल मार्श जैसे बड़े खिलाड़ी चोट के चलते आईपीएल से बाहर हो गए. डू प्लेसिस की जगह ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज उस्मान ख्वाजा को टीम में शामिल किया गया, लेकिन वह भी कोई छाप छोड़ने में नाकाम रहे.

अश्विन की खराब फॉर्म

इसके अलावा पिछले कुछ सालों से भारतीय टीम के स्थायी सदस्य आर अश्विन आईपीएल की ही खोज हैं. इस बार वह दस मैचों में केवल तीन विकेट ले सके हैं.

उनका फॉर्म में ना होना टीम को नुकसान पहुंचा रहा है. इसी वजह से धोनी भी पूरी तरह से अश्विन पर भरोसा नहीं कर पा रहे हैं. इस बार आईपीएल के कई मैचों में धोनी ने उनसे पूरे ओवर में नहीं फिंकवाए हैं.

ashwin.jpg

क्वालीफायर से पहले अभी सभी टीमों को 17 मैच और खेलने हैं. अंकतालिका में गुजरात लायंस के बाद दूसरे नंबर पर सनराइजर्स हैदराबाद है. उसके बाद कोलकाता नाइटराइडर्स और दिल्ली डेयरडेविल्स का नंबर आता है.

First published: 10 May 2016, 16:34 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी