Home » खेल » Harika dronavlli women grand prix chess tournament
 

भारतीय ग्रैंड मास्टर हरिका द्रोणावल्ली ने जीता फिडे महिला शतरंज खिताब

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 July 2016, 14:57 IST
(ट्विटर)

भारतीय ग्रैंडमास्टर हरिका द्रोणावल्ली ने फिडे महिला ग्रां प्री शतरंज टूर्नामेंट के 11वें और आखिरी राउंड में रूस की ओल्गा गिरया से गुरुवार को बाजी ड्रॉ खेलकर अपना पहला ग्रां प्री खिताब जीत लिया.

हरिका ने सफेद मोहरों से खेलते हुए अपना तमाम अनुभव झोंककर बाजी ड्रॉ कराई. हरिका और गिरया के बीच चली यह बाजी बेहद जटिल रही और हरिका ने अंत तक हार नहीं मानी. 

राउंड रॉबिन के आधार पर हो रहे टूर्नामेंट में हरिका ने सात अंक हासिल किए और टूर्नामेंट में हिस्सा ले रहीं दुनिया की शीर्ष 12 खिलाड़ियों में अव्वल रहीं.

भारत की एक अन्य ग्रैंडमास्टर कोनेरु हम्पी ने अपनी आखिरी बाजी जीती और उनके भी सात अंक रहे. लेकिन हरिका को टूर्नामेंट में बेहतर टाईब्रेक रिकॉर्ड के आधार पर विजेता घोषित किया गया.

हरिका ने खिताब जीतने के बाद कहा कि मैं जीतने की स्थिति में थी लेकिन मैंने दबाव महसूस किया और मैं अपना सर्वश्रेष्ठ खेल नहीं दिखा सकी.

हरिका ने खिताब जीतने के बाद कहा, "मैं एक समय बाजी जीत रही थी. लेकिन मैं बेहद दबाव में थी और अपना सर्वश्रेष्ठ नहीं कर पाई. अपना पहला ग्रां प्री खिताब जीतकर मैं बेहद खुश हूं."

हरिका और ओल्गा के बीच मुकाबला 62 चालों के बाद ड्रॉ के साथ समाप्त हुआ. इस जीत से हरिका के अंकों में इजाफा हुआ है और उनके इस वर्ष बाद में होने वाली विश्व चैंपियनशिप के लिए क्वालीफाई करने की संभावना बढ़ गई है.

25 वर्षीय हरिका अपनी जीत के बाद बजी राष्ट्र धुन को सुनकर बेहद भावुक हो गईं. भारतीय खिलाड़ी ने पहले दो गेम जीते लेकिन फिर चार गेम ड्रॉ खेले और दूसरे स्थान पर खिसक गईं. उन्होंने सातवीं बाजी में हम्पी को हराया और अगली चार बाजियां ड्रॉ खेलकर खिताब अपने नाम कर लिया.

First published: 15 July 2016, 14:57 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी