Home » खेल » Hockey India League helped us become fearless, says Harmanpreet Singh
 

हरमनप्रीत सिंह: हॉकी इंडिया लीग ने बेख़ौफ़ होकर खेलना सिखाया

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 December 2016, 14:01 IST
(पत्रिका)

जूनियर विश्व कप विजेता भारतीय टीम के सदस्य हरमनप्रीत सिंह ने कहा है कि हॉकी इंडिया लीग (एचआईएल) में खेलने से उन जैसे युवा खिलाड़ियों को दुनिया की शीर्ष टीमों से भिड़ने में काफी मदद मिली.

एचआईएल में दबंग मुंबई की ओर से खेलने वाले हरमनप्रीत ने कहा कि लीग ने उन्हें विश्व कप की तैयारी करने में मदद की.

21 वर्षीय खिलाड़ी ने कहा, ‘‘विदेशी खिलाड़ी काफी उत्साह बढ़ाते हैं और वे हमारी गलतियां सुधारने में भी हिचकिचाते नहीं है.’’ हरमनप्रीत ने कहा, ‘‘मार्क नोल्स या मोरिट्ज फुत्र्से जैसे शीर्ष खिलाड़ियों के खिलाफ खेलने का मतलब भी यही है कि महान खिलाड़ियों के खिलाफ खेलने का डर भी खत्म हो जाता है.’’

हरमनप्रीत की टीम में 2012 ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेता जर्मनी के फ्लोरियन फुक्स, ऑस्ट्रेलिया कीरेन गोवर्स और आयरलैंड के डेविड हार्टे जैसे बड़े खिलाड़ी शामिल हैं. उन्होंने एचआईएल में अपने अनुभव को याद करते हुए कहा कि मैं उस समय डर जाता था, लेकिन फिर खिलाड़ियों के साथ लगातार बात करने से हमारा आत्मविश्वास बढ़ा है. फ्लोरियन ने मुझे बहुत मदद की है.

हरमन ने कहा, "विदेशी खिलाड़ी बहुत ही मददगार होते हैं और गलतियों को सुधारने में मदद करते हैं. मेरे लिए व्यक्तिगत तौर पर लीग ने खेल में काफी मदद की है. जब मुझे एफआईएच चैंपियंस ट्रॉफी, रियो ओलंपिक और हाल ही के जूनियर विश्व कप में सीनियर खिलाड़ियों के खिलाफ खेलना था तो मुझे लीग से मिले अनुभव ने काफी मदद की."

गौरतलब है कि हॉकी इंडिया लीग का पांचवां संस्करण 17 जनवरी 2017 से मुंबई में शुरू होगा.

First published: 30 December 2016, 14:01 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी