Home » खेल » ICC World T20 2016: India vs New Zealand
 

टी-20 वर्ल्ड कप: न्यूजीलैंड के खिलाफ पहली जीत के इंतजार में भारत

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 March 2016, 14:14 IST

टी-20 वर्ल्ड कप में सुपर टेन के मुकाबले मंगलवार से शुरू हो रहे हैं. पहला मुकाबला नागपुर के विदर्भ क्रिकेट स्टेडियम में भारत और न्यूजीलैंड के बीच खेला जाएगा.

पिछले 11 टी-20 मैचों में दस मैच जीतकर शानदार फॉर्म में चल रही भारतीय टीम की कोशिश वर्ल्ड कप की शुरुआत जीत के साथ करने की होगी. वहीं, भारत के खिलाफ टी-20 मैचों में कभी नहीं हारने वाली न्यूजीलैंड की टीम रिकॉर्ड का सिलसिला बनाए रखना चाहेगी.

टी-20 वर्ल्ड कप: 7 खिलाड़ी जो ले सकते हैं संन्यास

नागपुर में भारत ने धोनी के नेतृत्व में 2009 में एक ही अंतरराष्ट्रीय टी-20 खेला है, जिसमें श्रीलंका ने टीम इंडिया को 26 रनों से हराया था.

एशिया कप में भारत का बेजोड़ प्रदर्शन

2007 में हुए पहले टी-20 वर्ल्ड कप को जीतने वाली भारतीय टीम ने कुछ दिनों पहले ही एशिया कप का खिताब जीता है. इसी साल जनवरी के भारत ने मजबूत ऑस्ट्रेलियाई टीम को टी-20 में उन्हीं के घरेलू मैदान में 3-0 से हराया था.

पढ़ें: युवराज का रिकॉर्ड तोड़ने से चूके मुनरो, बनाया दूसरा सबसे तेज अर्धशतक

इसके अलावा भारतीय टीम पिछले महीने तीन मैचों की सीरीज में श्रीलंका को 2-1 से हरा चुकी है. वर्ल्ड कप के दो अभ्यास मैचों में से एक में भारतीय टीम को जीत मिली थी. जिसमें उसने वेस्टइंडीज को 45 रनों से मात दी थी. दूसरे अभ्यास मैच में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ चार रनों से हार झेलनी पड़ी थी.

न्यूजीलैंड टीम का पलड़ा भारी

भारत और न्यूजीलैंड के बीच चार अंतरराष्ट्रीय टी-20 मैच खेले गए है जिसमें टीम इंडिया को हर बार हार का सामना करना पड़ा है.

वर्ल्ड कप टी-20 में भी न्यूजीलैंड ने एकमात्र मैच में 2007 में भारत को 10 रनों से हराया था. करीब साढ़े तीन साल पहले इन दोनों टीमों ने आपस में पिछला टी-20 मैच खेला था.

पढ़ें: इस टी-20 विश्व कप में बीसीसीआई और आईसीसी दोनों की झोली भरेगी

दूसरी ओर, न्यूजीलैंड ने अपने पहले अभ्यास मैच में श्रीलंका को 74 रनों से मात दी थी लेकिन दूसरे मैच में उसे इंग्लैड के हाथों छह विकेट से हार झेलनी पड़ी थी.

कीवी टीम अपने स्टार बल्लेबाज और कप्तान ब्रेंडन मैक्लम के संन्यास के बाद पहली बार किसी बड़े टूर्नामेंट में हिस्सा ले रही है. उनकी कमी टीम को जरूर महसूस होगी.

कीवी टीम के खतरनाक खिलाड़ी

वर्ल्ड कप की प्रबल दावेदार मानी जा रही न्यूजीलैंड की टीम में कई ऐसे खिलाड़ी हैं जो मैच का पासा कभी भी पलट सकते हैं.

केन विलियमसन की अगुवाई वाली कीवी टीम के पास मार्टिन गुप्टिल, कोलिन मुनरो, ग्रांट एलियट, रोस टेलर और कोरी एंडरसन जैसे विस्फोटक बल्लेबाज हैं.

एशिया कप फाइनल: बांग्लादेश को हराकर भारत छठी बार बना चैंपियन

तेज गेंदबाजी आक्रमण में उनके पास टिम साउथी, ट्रेंट बोल्ट और मिशेल मैक्लेघन जैसे गेंदबाज हैं. ये सभी गेंदबाज 140 की रफ्तार से गेंदबाजी करते हैं.

विराट और रोहित से उम्मीदें

भारतीय टीम इस समय हर विभाग में मजबूत दिख रही है. पिछले दो महीने से विराट कोहली शानदार फार्म में है और सात पारियों में चार अर्धशतक बना चुके हैं. कोहली ने 38 मैचों में 50 से ऊपर की औसत से रन बनाये हैं. वहीं छठा टी-20 विश्व कप खेल रहे रोहित शर्मा भी जबर्दस्त फॉर्म में हैं.

पढ़ें: जानिए क्या थे इन 10 क्रिकेटर्स के पुराने धंधे

हार्दिक पंड्या के आने से टीम को बल्लेबाजी और गेंदबाजी दोनों में स्थिरता प्राप्त हुई है. वह एशिया कप में भारत की तरफ से सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज भी रहे थे. युवा जसप्रीत बुमराह ने टीम की अंतिम ओवरों की समस्या भी खत्म कर दी है. मोहम्मद शमी के आने से धोनी के पास गेंदबाजी में विकल्प बढ़ गए हैं.

दोनों टीमें इस प्रकार हैं:

भारत: महेंद्र सिंह धौनी (कप्तान), विराट कोहली, शिखर धवन, रोहित शर्मा, सुरेश रैना, युवराज सिंह, अजिंक्य रहाणे, रविन्द्र जडेजा, हार्दिक पंड्या, रविचन्द्रन अश्विन, आशीष नेहरा, जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी, पवन नेगी, हरभजन सिंह.

पढ़ें: मार्टिन गुप्टिल की तूफानी पारी, ऑस्ट्रेलिया की बुरी हार

न्यूजीलैंड: केन विलियमसन (कप्तान), मार्टिन गुपटिल, रोस टेलर, ग्रांट इलियट, मिशेल मैक्लेघन, नाथन मैक्लम, कोरी एंडरसन, ट्रेंट बोल्ट, एडम मिलने, कोलिन मुनरो, हेनरी निकोलस, ल्यूक रौंची, मिशेल सैंटनर, इश सोढ़ी, टिम साउदी.

First published: 15 March 2016, 14:14 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी