Home » खेल » India Blue lift Duleep Trophy 2016
 

गौतम गंभीर की कप्तानी में इंडिया ब्लू ने जीता दलीप ट्रॉफी का खिताब

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 September 2016, 15:03 IST
(बीसीसीआई डॉट टीवी)

गौतम गंभीर की कप्तानी में इंडिया ब्लू ने बुधवार को युवराज सिंह की टीम इंडिया रेड को 355 रनों से हराकर दलीप ट्रॉफी का खिताब जीत लिया. इसके साथ ही इंडिया ब्लू गुलाबी गेंद से दिलीप ट्रॉफी अपने नाम करने वाली पहली टीम बन गई.

पहली पारी में इंडिया ब्लू की ओर से दोहरा शतक जमाने वाले चेतेशेवर पुजारा को 'मैन ऑफ द मैच' के अवार्ड से नवाजा गया. पुजारा ने पहली पारी में 256 रन की पारी खेली थी. पुजारा के साथ साथ पहली पारी में शेलडन जैक्सन ने भी 134 रन की पारी खेली थी. 

ग्रेटर नोएडा में चल रहे मैच के पांचवें दिन इंडिया ब्लू ने चौथी पारी में 517 रनों का विशाल लक्ष्य रखा था. इसके जवाब में इंडिया रेड की पूरी टीम 44.1 ओवरों में 161 रनों पर ही ढह गई. 

पहली पारी में 5 विकेट लेकर इंडिया रेड की कमर तोड़ने वाले रवींद्र जडेजा ने दूसरी पारी में भी शानदार गेंदबाज़ी कर 18.1 ओवर में 76 रन देकर 5 बल्लेबाज़ों को आउट किया. इस तरह जडेजा ने मैच में 171 रन देकर कुल 10 विकेट अपनी झोली में डाले, उन्होंने ऐसा प्रथम श्रेणी क्रिकेट में छठी बार किया.

पहली पारी में इंडिया ब्लू की टीम ने 693 रन पर पारी घोषित कर दी जिसके जवाब में इंडिया रेड की टीम 356 रन पर ही सिमट गई. पहली पारी के आधार पर इंडिया ब्लू की टीम को 337 रन की बढ़त मिली. दूसरी पारी में इंडिया ब्लू की ओर से मयंक अग्रवाल ने 52 रन की पारी खेली और कप्तान गंभीर ने 179 रन पर पारी घोषित कर दी.

जीत के लिए युवराज सिंह की कप्तानी में खेल रही इंडिया रेड की टीम को 517 रन चाहिए थे, लेकिन पूरी टीम 161 रन पर पवेलियन लौट गई. इंडिया रेड के लिए सबसे ज़्यादा 39 रन गुरकीरत सिंह मान ने बनाए, जबकि शिखर धवन 29 और कप्तान युवराज सिंह 21 रन बनाकर आउट हुए. 

हार के बाद इंडिया रेड के कप्तान युवराज सिंह ने कहा कि टॉस हारने के बाद हमने अच्छी गेंदबाजी नहीं की और आसान कैच ड्रॉप किए, स्टम्पिंग भी मिस की. ये पहला मौका था जब दलीप ट्रॉफी पहली बार दूधिया रोशनी  (फ्लड लाइट्स) में गुलाबी गेंद से खेली गई.

First published: 15 September 2016, 15:03 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी