Home » खेल » India Olympics History, Performance of Indians in Olympics
 

रियो ओलंपिक: नंबरों के जरिए जानिए खेलों के महाकुंभ में भारत का इतिहास

निखिल कुमार वर्मा | Updated on: 19 July 2016, 16:18 IST
26

मेडल भारत को अब तक ओलंपिक खेलों में मिले हैं

18 दिन बाद ब्राजील के शहर रियो डि जेनेरो में ग्रीष्मकालीन ओलंपिक खेल शुरू होंगे. 5 अगस्त से 21 अगस्त तक चलने वाले रियो ओलंपिक में दो सौ देशों से करीब दस हजार से ज्यादा एथलीट हिस्सा ले रहे हैं.

साल 1896 में पहली बार आधुनिक ओलंपिक खेलों का आयोजन ग्रीस की राजधानी एथेंस में हुआ. ओलंपिक खेल प्रत्येक चार वर्ष बाद विश्व के किसी प्रसिद्ध स्थान पर आयोजित किये जाते हैं.

रियो ओलंपिक के लिए भारतीय दल में 122 खिलाड़ी है जो 14 खेलों में हिस्सा लेंगे. उम्मीद जताई जा रही है कि रियो ओलंपिक में भारत की पदकों की संख्या लंदन ओलंपिक के मुकाबले ज्यादा होगी.

एक नजर ओलंपिक खेलों में भारत के प्रदर्शन पर:

122

  • भारतीय खिलाड़ी रियो ओलंपिक में हिस्सा ले रहे हैं जो 14 खेलों में प्रतिनिधित्व करेंगे.
  • यह अब तक का सबसे बड़ा भारतीय दल है.
  • लंदन ओलंपिक 2012 में भारत की ओर से 83 एथलीट ने हिस्सा लिया था.
  • एथलेटिक्स में 38, हॉकी में 32, निशानेबाजी में 12, कुश्ती में 7, बैडमिंटन में 7, तीरंदाजी, टेबल टेनिस और टेनिस में 4-4 खिलाड़ी अपनी चुनौती रखेंगे.

26

  • मेडल भारत को अब तक ओलंपिक खेलों में मिले हैं.
  • 11 पदक पुरुष हॉकी टीम ने जीते हैं जिसमें आठ स्वर्ण पदक शामिल हैं.
  • ओलंपिक खेलों में लगातार दो पदक जीतने वाले सुशील कुमार एकमात्र भारतीय खिलाड़ी हैं.
  • लंदन ओलंपिक 2012 में भारत ने दो रजत और चार कांस्य सहित छह पदक अपने नाम किए.

2

  • रजत पदक वर्ष 1900 के पेरिस ओलंपिक में एंग्लो-इंडियन नॉर्मन प्रिचार्ड ने एथलेटिक्स में जीते थे.
  • कई वर्षों तक तालिका में ये पदक भारत के नाम दर्ज रहे. हालांकि, ओलंपिक में भारत की शुरुआत 1920 के एंटवर्प ओलंपिक से मानी जाती है जिसमें चार भारतीय खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया था.
  • 1952 के हेलसिंकी ओलंपिक में केडी जाधव ने फ्री स्टाइल कुश्ती में कांस्य पदक हासिल किया था.
  • स्वतंत्र भारत में व्यक्तिगत तौर पर ओलंपिक में पदक जीतने वाले जाधव पहले खिलाड़ी थे.

1

  • स्वर्ण पदक भारत ने व्यक्तिगत प्रतिस्पर्धा में हासिल किया है.
  • निशानेबाज अभिनव बिंद्रा ने 2008 बीजिंग ओलंपिक खेलों की 10 मीटर एयर राइफल स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीतकर यह उपलब्धि हासिल की थी.
  • व्यक्तिगत प्रतिस्पर्धा में भारत के नाम केवल तीन रजत पदक है. निशानेबाज राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने एथेंस ओलंपिक (2004) में जबकि निशानेबाज विजय कुमार और पहलवान सुशील कुमार ने लंदन ओलंपिक में रजत पदक जीता.
  • सिर्फ 1952, 2008 और 2012 में भारत दो या उससे ज्यादा पदक जीतने में कामयाब रहा है.

44

  • साल बाद 1996 के अटलांटा ओलंपिक में भारत व्यक्तिगत प्रतिस्पर्धा में पदक जीतने में कामयाब रहा.
  • वाइल्ड कार्ड के जरिए ओलंपिक में प्रवेश पाने वाले टेनिस खिलाड़ी लिएंडर पेस ने कांस्य पदक जीतकर सालों का सूखा समाप्त किया.
  • इसके बाद 2000 के सिडनी ओलंपिक में भारत की कर्णम मल्लेश्वरी ने भारोत्तोलन में कांस्य पदक जीता. 2004 के एथेंस ओलंपिक में भारत की ओर से एकमात्र पदक निशानेबाज राज्यवर्धन सिंह राठौर ने जीता.
  • केवल तीन महिलाओं ने ही भारत की ओर से ओलंपिक में पदक जीता है. इनमें कर्णम मल्लेश्वरी, बैंडमिटन खिलाड़ी साइना नेहवाल और मुक्केबाज एमसी मैरीकॉम शामिल हैं.

First published: 19 July 2016, 16:18 IST
 
निखिल कुमार वर्मा @nikhilbhusan

निखिल बिहार के कटिहार जिले के रहने वाले हैं. राजनीति और खेल पत्रकारिता की गहरी समझ रखते हैं. बनारस हिंदू विश्वविद्यालय से हिंदी में ग्रेजुएट और आईआईएमसी दिल्ली से पत्रकारिता में पीजी डिप्लोमा हैं. हिंदी पट्टी के जनआंदोलनों से भी जुड़े रहे हैं. मनमौजी और घुमक्कड़ स्वभाव के निखिल बेहतरीन खाना बनाने के भी शौकीन हैं.

पिछली कहानी
अगली कहानी