Home » खेल » India vs Australia Live test series: Team India lost first match with 333 runs
 

पहले टेस्ट मैच में कंगारुओं ने टीम इंडिया को दी करारी शिकस्त

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 February 2017, 15:31 IST
(BCCI)

पुणे में खेले जा रहे पहले भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया टेस्ट मैच में कंगारुओं ने मेजबान टीम को करारी शिकस्त दी. टीम इंडिया ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों के सामने ताश के पत्तों की तरह धराशायी हो गई. ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 333 रनों से हराया.

ऑस्ट्रेलिया द्वारा दिए गए 441 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी टीम इंडिया दूसरी पारी में तीसरे दिन ही 107 रनों पर बिखर गई. दूसरी पारी में भी भारतीय बल्लेबाजों का प्रदर्शन निराशाजनक रहा.

दोनों पारियों में भारत के धुरंधर 150 रनों का आकंड़ा भी पूरा नहीं कर पाए. पहली पारी में भारत ने मात्र 105 रन बनाए थे. यह टेस्ट मैचों के इतिहास में पहला मौका है जब भारत ने घरेलू पिच पर इतना घटिया प्रदर्शन किया हो. हार के साथ भारत चार टेस्ट मैचों की सीरीज में 0-1 से पीछे हो गया है.

तीसरे दिन के खेल में भारत ने चाय तक महज 99 रन के स्कोर पर 6 विकेट गंवा दिए थे. भारत का टॉप और मिडिल ऑर्डर बुरी तरह से फेल हो गया.

भारतीय बल्लेबाजी का प्रदर्शन कितना घटिया था, इसका अंदाजा इसी बात से लगा सकते हैं कि दूसरी पारी में भारत के सात बल्लेबाज दहाई का आंकड़ा भी नहीं छू पाए. भारत की ओर से दूसरी पारी का सर्वाधिक स्कोर चेतेश्वर पुजारा (31 ) के नाम रहा.

18 रन बनाने वाले रहाणे दूसरे सर्वश्रेष्ठ स्कोरर रहे. ओकीफी और लायन ने मिलकर भारत के सारे विकेट लिए. 15 ओवर की गेंदबाजी में ओकीफी ने 35 रन देकर 6 विकेट लिए जबकि लायन ने 14.5 ओवर की गेंदबाजी में 53 रन देकर 4 विकेट हासिल किए.

इससे पहले ऑस्ट्रेलिया की दूसरी पारी 285 रन पर खत्म हो गई. मेहमान टीम ने पहली पारी की बढ़त को मिलाकर मेजबान के सामने जीत के लिए 441 रन का लक्ष्य रखा.

वहीं, ऑस्ट्रेलिया की दूसरी पारी 285 रन पर खत्म हो गई. मेहमान टीम ने पहली पारी की बढ़त को मिलाकर मेजबान के सामने जीत के लिए 441 रन का लक्ष्य रखा. तीसरे दिन दूसरी पारी में ऑस्ट्रेलिया की ओर से कप्तान स्टीव स्मिथ (109) ने शतकीय पारी खेली.

सुबह ऑस्ट्रेलिया की दूसरी पारी को स्टीव स्मिथ (59) और मिचेल मार्श (21) ने चार विकेट पर 143 रन से आगे बढ़ाया. स्कोर में 26 रन ही जुड़े थे कि जडेजा ने मार्श को 31 रन पर आउट कर दिया.

इसके बाद जडेजा ने मैथ्यू वेड (20) को आउट कर मेहमान टीम को छठा झटका दिया. दूसरी ओर स्मिथ ने मुश्किल विकेट पर तीन जीवनदानों का फायदा उठाते हुए शतक लगाया. टीम का स्कोर 246 तक पहुंचा था कि उनको जडेजा ने पगबाधा आउट कर दिया.

स्मिथ के बाद मिचेल स्टार्क भी 30 रन बनाकर अश्विन का शिकार बने. इसके बाद नैथन लियोन को 13 रन पर उमेश यादव ने पगबाधा आउट किया. अंतिम विकेट के रूप में स्टीव ओकीफी छह रन बनाकर आउट हुए.

दूसरे दिन भारतीय बल्लेबाजों ने अपनी पहली पारी में घुटने टेक दिए. पूरी टीम ताश के पत्तों की तरह ढेर हो गई. भारतीय बल्लेबाज पहली बार भारत में खेल रहे ऑस्ट्रेलियाई स्पिनर स्टीव ओकीफ की फिरकी को समझने में पूरी तरह नाकाम रहे और महज 105 रन पर ऑल आउट हो गए.

ओकीफ की स्पिन का जादू इस कदर था कि भारतीय पारी के आखिरी सात विकेट महज 11 रन के अंदर गंवा दिए. इनमें से 6 विकेट तो अकेले ओकीफ ने झटके.

भारत के पहली पारी में 105 रन पर सिमटने से ऑस्ट्रेलिया को भारत पर 155 रन की बढ़त मिल गई जोकि इस मैच में निर्णायक साबित हो सकती है. ऑस्ट्रेलिया ने अपनी पहली पारी में 260 रन बनाए थे. भारत के लिए केएल राहुल ने सबसे अधिक 64 रन बनाए.

राहुल के अलावा सिर्फ मुरली विजय (10) और रहाणे (13) ही दो अंकों में पहुंच पाए जबकि कोहली और साहा तो अपना खाता भी नहीं खोल पाए.

अपनी दूसरी पारी में भी ऑस्ट्रेलिया ने शुरुआती झटकों से उबरते हुए कप्तान स्मिथ की हाफ सेंचुरी की बदौलत दिन का खेल खत्म होने तक 4 विकेट पर 143 रन बनाकर भारत पर 298 रन की मजबूत बढ़त बना ली थी.

दूसरी पारी में अश्विन ने 61 रन तक ऑस्ट्रेलिया के तीन विकेट झटके. पुणे टेस्ट में भारत के अबतक के प्रदर्शन को देखकर यही लगता है कि उसका पिछले 19 टेस्ट से अजेय रहने के का रिकॉर्ड अब यहां थम सकता है.

2008 के बाद से भारत का यह सबसे खराब प्रदर्शन है. घरेलू मैदान की बात करें तो साल 2008 के बाद यह भारत का सबसे कम स्‍कोर है. अप्रैल 2008 में भारत ने अहमदाबाद में हुए टेस्‍ट में साउथ अफ्रीका के खिलाफ 20 ओवर्स में सिर्फ 76 रन बनाकर आउट हो गई थी. विदेशी मैदानों की बात करें तो 2014 में इंग्‍लैंड के खिलाफ भारतीय टीम 94 रन पर सिमट गई थी.

First published: 25 February 2017, 15:31 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी