Home » खेल » #IndvsPak: India v Pakistan World T20 preview
 

#वर्ल्डकप: चिरप्रतिद्वंद्वी भारत-पाकिस्तान के बीच मैदान पर हुए कुछ असली टकराव

कैच ब्यूरो | Updated on: 19 March 2016, 12:30 IST

टी-20 वर्ल्ड कप में शनिवार को भारत और पाकिस्तान के बीच कोलकाता के ईडेन गार्डन्स के बीच मुकाबला होने वाला है.

वर्ल्ड कप में भारत का पाकिस्तान के खिलाफ रिकॉर्ड 10-0 का है.  वनडे वर्ल्ड कप मैचों में भारत का अब तक का स्कोर 6-0 है, जबकि टी-20 वर्ल्ड कप में ये स्कोर 4-0 का है.

सेमीफाइनल की रेस में बने रहने के लिए भारतीय टीम को यह मुकाबला हर हाल में जीतना होगा. टीम इंडिया को पहले सुपर टेन मुकाबले में न्यूजीलैंड के हाथों 47 रनों से हार झेलनी पड़ी थी.

वहीं पाकिस्तान ने पहले मुकाबले में बांग्लादेश को हराया है. खास बात यह है कि पाकिस्तान ईडेन पर भारत से कभी नहीं हारा है.

भारत-पाक के बीच ईडन में यह पहला टी-20 मैच होगा. हालांकि पहले हुए चार वन-डे मैचों में हर बार पाकिस्तान की जीत हुई है.

वर्ल्ड कप में भारत और पाकिस्तान के किलाड़ियों के बीच हुई बहुचर्चित लड़ाइयां:

वर्ल्ड कप 1992, किरण मोरे बनाम जावेद मियांदाद

1992 में भारत और पाकिस्तान पहली बार किसी वर्ल्ड कप में आमने सामने हुए थे. इस मैच में मियांदाद के विकेट के आगे उछलते हुए किरण मोरे को चिढ़ाने के वाकये को कौन भूल सकता है?

सिडनी में हुए मैच में किरण मोरे, जावेद मियांदाद के खिलाफ लगातार अपील कर रहे थे और उन पर तंज कस रहे थे. मियांदाद ने मिड ऑफ पर शॉट लगाया. वापसी के थ्रो पर मोरे ने बेल्स उड़ायी तो मियांदाद आपा खो बैठे और विकेट के आगे कूदने लगे.

मियांदाद ने मोरे की नकल उतारकर उन पर हावी होने की कोशिश की. वैसे मियांदाद पाकिस्तान के लिए वो मैच बचा नहीं पाये. भारत ने सिडनी में हुए उस मैच में पाकिस्तान को 43 रन से हरा दिया.

वर्ल्ड कप 1996, आमिर सोहेल बनाम वेंकेटश प्रसाद

1996 के वर्ल्ड कप में एक बार फिर दोनों टीमें आमने-सामने हुईं. यहां भी देशवासियों की उम्मीदों का दबाव खिलाड़ियोंं पर दिखा. भारतीय तेज गेंदबाज वेंकेटेश प्रसाद और पाकिस्तान के ओपनर बल्लेबाज आमिर सोहेल के बीच हुई अनबन क्रिकेट के कुछ शानदार लम्हों में एक है.

भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए पाक के सामने 288 रनों का लक्ष्य रखा था. लक्ष्य का पीछा करने उतरे सलामी बल्लेबाज आमिर सोहेल तेज गेंदबाज वेंकेटेश प्रसाद की बेरहमी से धुंनाई शुरू कर दी. आमिर, प्रसाद की गेंद पर लगातार बाउंड्री जमा रहे थे.

सोहेल ने बेहद ही आत्मविश्वास में आकर अपने बल्ले से वेंकेटेश प्रसाद को बाउंड्री की तरफ इशारा किया. उनके मुताबिक अगली गेद भी वे वहींं भेजने वाले थे. लेकिन अगली गेंद पर प्रसाद ने आमिर सोहेल की ऑफ स्टंप की गिल्लियां बिखेर दीं.

सोहेल को क्लीन बोल्ड करने के बाद बारी प्रसाद की थी. उन्होंंने भी जोश में आमिर को पैवेलियन की ओर जाने का इशारा कर दिया. भारत ने यह मैच 39 रनों से जीता था.

वर्ल्ड कप 2003, सचिन तेंदुलकर बनाम शोएब अख्तर

भारत और पाकिस्तान के बीच 2003 वर्ल्ड कप मुकाबले को सचिन बनाम शोएब का नाम दिया गया था. दक्षिण अफ्रीका के सेंचुरियन स्टेडियम में पाकिस्तान ने पहले बल्लेबाजी करते हुए टीम इंडिया के सामने 274 रनों का लक्ष्य रखा.

शोएब अख्तर उस वक्त 150 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से गेंदबाजी कर रहे थे. सचिन के शोएब के पहले ही ओवर में तेज रफ्तार गेंद को थर्ड मैन बाउंड्री के ऊपर से सीमा रेखा के बाहर भेज दिया.

इस सिक्सर को वर्ल्ड कप का सर्वश्रेष्ठ सिक्सर माना जाता है. सचिन ने इस मैच में 98 रन की पारी खेल टीम इंडिया को ऐतिहासिक जीत दिलाई थी. भारत ने यह मैच छह विकेट से जीता था.

First published: 19 March 2016, 12:30 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी