Home » खेल » Kohli and other top Indian Test cricketers to play Duleep Trophy with pink ball
 

पिंक बॉल से खेलेंगे कोहली समेत दिग्गज जेंटलमैन

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 June 2016, 15:26 IST
(कैच न्यूज)

भारत और न्यूजीलैंड के बीच अक्टूबर में पहली बार डे-नाइट टेस्ट का आयोजन होने वाला है. भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) घरेलू क्रिकेट मैचों को दूधिया रोशनी और गुलाबी गेंद के साथ करवाने की तैयारी में लगा है.

डे-नाइट टेस्ट से पहले बीसीसीआई ने दलीप ट्रॉफी घरेलू क्रिकेट में कूकाबूरा गुलाबी गेंद का प्रयोग करेगा, ताकि भारतीय खिलाड़ियों को गुलाबी गेंद से अभ्यास का पूरा मौका मिल सके.

बीसीसीआई अध्यक्ष अनुराग ठाकुर ने कहा है कि दलीप ट्रॉफी में टेस्ट टीम के कप्तान विराट कोहली समेत शीर्ष भारतीय टेस्ट खिलाड़ी खेल सकते हैं.

दलीप ट्रॉफी में इस बार अंतर-क्षेत्रीय प्रणाली की जगह चयन पैनल की ओर से अखिल भारतीय स्तर पर चुनी गई चार टीमों को लिया जाएगा.

दलीप ट्रॉफी का पूरा टूर्नामेंट डे-नाइट फॉर्मेट पर होगा. भारतीय टीम न्यूजीलैंड, इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ घरेलू मैदान पर करीब 13 टेस्ट मैच खेलने वाली है. बीसीसीआई के अनुसार टेस्ट के सभी संभावितों और युवा खिलाड़ियों को गुलाबी गेंद का आदी होने का मौका दिया जाएगा.

भारत में टेस्ट मैचों में 'एसजी टेस्ट' गेंद का इस्तेमाल किया जाता है, लेकिन दलीप ट्रॉफी में गुलाबी कूकाबूरा का उपयोग किया जाएगा.

ईडन गार्डन तैयार

बंगाल क्रिकेट संघ (कैब) ने इस महीने होने वाले अपने प्रथम श्रेणी क्रिकेट टूर्नामेंट के फाइनल को दूधिया रोशनी में गुलाबी गेंद से कराए जाने का निर्णय लिया है.

यह विचार भारतीय टीम के पूर्व कप्तान और वर्तमान में कैब अध्यक्ष सौरभ गांगुली का है. कैब न्यूजीलैंड के खिलाफ बीसीसीआई की तरफ से प्रस्तावित डे-नाइट टेस्ट की मेजबानी के लिए दावेदारी सुनिश्चित करना चाहता है.

एडिलेड में खेला गया पहला डे-नाइट टेस्ट

पिछले साल 27 नवंबर को ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के बीच एडिलेड में टेस्ट इतिहास का पहला डे-नाइट मैच खेला गया. इस मैच में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहली बार गुलाबी रंग की गेंद का इस्तेमाल हुआ.

दिलचस्प बात यह है कि एडिलेड टेस्ट केवल तीन दिनों में खत्म हो गया. न्यूजीलैंड पहली पारी में महज 202 और दूसरी पारी में 208 रन बनाकर ऑलआउट हो गई.

वहीं ऑस्ट्रेलिया की पहली पारी 224 रनों पर सिमट गई. दूसरी पारी में उसने सात विकेट खोकर 187 रन बनाए. ऑस्ट्रेलिया ने इस मैच में तीन विकेट से जीत हासिल की थी. मैन ऑफ द मैच तेज गेंदबाज जोश हेजलवुड ने मैच में नौ विकेट लिए थे. 

First published: 3 June 2016, 15:26 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी