Home » खेल » Maria sharapova doping ban was reduced by CAS
 

डोपिंग मामला: शारापोवा पर लगे प्रतिबंध में 9 महीने की कटौती

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 October 2016, 11:43 IST
(फाइल फोटो )

दुनिया की सबसे बड़ी खेल अदालत 'कोर्ट ऑफ आर्बिट्रेशन फॉर स्पोर्ट' (सीएएस) ने रूस की दिग्गज महिला टेनिस खिलाड़ी मारिया शारापोवा पर डोपिंग के कारण लगाए गए प्रतिबंध को कम कर दिया है.

सीएएस ने प्रतिबंध के खिलाफ शारापोवा की याचिका पर सुनवाई करते हुए अंतर्राष्ट्रीय टेनिस महासंघ (आईटीएफ) के स्वतंत्र न्यायाधिकरण द्वारा लगाए गए दो वर्ष के प्रतिबंध में 9 महीने की कटौती कर 15 महीने कर दिया है.

खबर के मुताबिक, रूस टेनिस महासंघ (आरटीएफ) के अध्यक्ष शमिल तारपिश्चेव ने कहा कि शारापोवा अगले साल 26 अप्रैल तक टेनिस कोर्ट में लौट आएंगी. सीएएस की वेबसाइट पर फैसले की कॉपी मंगलवार को प्रसारित कर दी गई है.

उन्होंने कहा, प्रतिबंध का कम हो जाना अच्छा है. चूंकि शारापोवा साफ-सुथरी खिलाड़ी हैं, इसलिए उन्होंने (सीएएस) हमारी अपील को माना.

आरटीएफ अध्यक्ष ने कहा, "यह पूरी तरह उन पर निर्भर है कि क्या वह अपने खेल के पुराने स्तर के साथ वापसी कर पाती हैं या नहीं." उन्होंने कहा, हम हालांकि चाहते हैं कि वह राष्ट्रीय टीम के लिए खेलें और अगले ओलम्पिक में पदक जीत कर आएं.

'सबसे खुशनुमा दिनों में से एक'

शारापोवा ने बयान में कहा, "पिछले साल मार्च में निलंबन के बारे में पता लगने के बाद मैं अपने करियर के सबसे मुश्किल दिनों से गुजरी और अब मेरे सबसे खुशनुमा दिनों में से एक है, क्योंकि मुझे पता चला है कि मैं अप्रैल में वापसी कर सकती हूं.''

आईटीएफ ने आठ जून को डोपिंग की दोषी पाए जाने पर शारापोवा पर दो साल का प्रतिबंध लगाया था. रूसी खिलाड़ी ने इस प्रतिबंध के खिलाफ नौ जून को सीएएस में अपील दायर की थी. इस प्रतिबंध के कारण विश्व की पूर्व नंबर एक खिलाड़ी रियो ओलम्पिक-2016 में हिस्सा नहीं ले पाई थीं.

गौरतलब है कि पांच बार ग्रैंड स्लैम खिताब जीत चुकीं शारापोवा इसी वर्ष ऑस्ट्रेलियन ओपन के दौरान मेल्डोनियम के सेवन की दोषी पाई गई थीं, जिसके बाद आईटीएफ ने उन पर प्रतिबंध लगाया था.

हालांकि सीएएस ने अपने फैसले में साफ कर दिया है कि शारापोवा पर 15 महीने का प्रतिबंध लागू होगा, जो 26 जनवरी, 2016 से माना जाएगा.

First published: 5 October 2016, 11:43 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी