Home » खेल » Milkha Singh: Appoint Rajyavardhan Singh Rathore as Sports Minister to get more olympic medals
 

मिल्खा सिंहः ओलंपिक में ज्यादा पदक पाने के लिए राज्यवर्धन सिंह राठौड़ को बनाएं खेल मंत्री

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 August 2016, 18:04 IST
(यूट्यूब)

फ्लाइंग सिख मिल्खा सिंह ने कहा है कि भविष्य में ओलंपिक जैसे वैश्विक खेलों में भारत को ज्यादा पदक पाने के लिए सही मदद देने के साथ ही राज्यवर्धन सिंह राठौड़ को केंद्रीय खेल मंत्री बनाया जाना चाहिए. इसके साथ ही मिल्खा सिंह ने रियो ओलंपिक में शानदार प्रदर्शन करने वाली पीवी सिंधू, साक्षी मलिक और दीपा कर्माकर की जमकर तारीफ की.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक मिल्खा ने कहा, "मेरी सलाह है कि राज्यवर्धन सिंह राठौड़ को खेल मंत्री बनाने के साथ उचित धनराशि और संसाधनों की मदद के साथ प्रभारी बना दिया जाए. अलग-अलग लोगों को विभिन्न खेलों का मुखिया बना दिया जाए और देश के लिए पदक जीतने की खातिर पूरा सहयोग दिया जाए. देश में प्रतिभाएं मौजूद हैं और मुझे पूरा भरोसा है कि सही प्रयासों के साथ हम ऐसा कर सकते हैं."

वीडियो: 125 सेकेंड में देखिए 'सिल्वर गर्ल सिंधू' का रियो में सुनहरा सफर

उन्होंने यह भी कहा, "रियो ओलंपिक खेलों के खत्म होते ही हमें बेहतर होते वैश्विक स्तरों को ध्यान में रखते हुए केवल पदक जीतने के लक्ष्य के साथ अगले दो ओलंपिक खेलों के लिए मेहनत शुरू कर देनी चाहिए. आज हमारे पास बुनियादी ढांचा और संसाधन हैं. कोई भी कमी नहीं है. हमें अनुबंध के आधार पर शीर्ष स्तर के कोच जुटाने चाहिए और उन्हें व हमारे खिलाड़ियों को स्वर्ण हासिल करने के लिए सशक्त बनाना चाहिए."

रियो ओलंपिक में पदक जीतने वाली सिंधू और साक्षी के साथ ऐतिहासिक प्रदर्शन करने वाली दीपा के बारे में उन्होंने कहा, "उस वक्त मेरी आंखें भर आईं जब मैंने सिंधू और साक्षी मलिक को पदक जीतने के बाद कंधे से राष्ट्रीय झंडा लपेटे देखा. मैं और मेरी पत्नी निर्मल जो खुद इंटरवर्सिटी बैडमिंटन खिलाड़ी रह चुकी हैं, पीवी सिंधू, उनके माता-पिता और कोच गोपीचंद को इस शानदार उपलब्धि के लिए बधाई देते हैं."

वीडियोः रोहतक से रियो, साक्षी विजयी भव

मिल्खा ने आगे कहा, "मैं साक्षी मलिक और दीपा कर्माकर, उनके माता-पिता और कोच को भी उनके त्याग और यह साबित करने के लिए बधाई देता हूं कि कड़ी मेहनत और दृढ़ निश्चय के साथ भारतीय महिलाएं ऊंचाइयां छू सकती हैं और यह हमारे लड़कों के लिए भी एक प्रेरणा होनी चाहिए. आप लड़कियों ने भारत को गौरवांवित किया है और हम आपके आभारी हैं."

First published: 20 August 2016, 18:04 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी