Home » खेल » Mirabai Chanu lifts 194 kgs to win gold medal at 2017 World Weightlifting Championships after 22 years for india
 

वेटलिफ्टिंग में भारत की इस खिलाड़ी ने गोल्ड जीतकर रचा इतिहास

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 November 2017, 14:25 IST
(Rajyavardhan Rathore twitter account)

भारत की तरफ से मीराबाई चानू ने वर्ल्ड वेटलिफ़्टिंग चैंपियनशिप में इतिहास रच दिया है. अमरीका के अनाहेम में आयोजित वर्ल्ड चैंपियनशिप में मीराबाई ने गोल्ड मेडल जीता.

मीराबाई ने थाईलैंड की सुकचारोएन थुनया को हराकर 22 साल बाद नया इतिहास रचा. चानू ने रिकॉर्ड बनाते हुए 48 किलोग्राम वर्ग में गोल्ड जीता है. चानू ने रिकॉर्ड 194 किलो (स्नैच में 85 किलो और क्लीन ऐेंड जर्क में 109 किलो) का वज़न उठा कर ये कारनामा किया.

मेडल लेने के जब मीराबाई पोडियम पर खड़ी हुईं उस समय तिरंगा देखकर उवके आंसू छलक आए. इस जीत के साथ ही उन्होंने रियो ओलंपिक में उनके खराब प्रदर्शन को भी पीछे छोड़कर अपना दमखम दिखाया. वर्ल्ड वेटलिफ़्टिंग चैंपियनशिप जीतने वाली मीराबाई भारत की दूसरी वेटलिफ़्टर हैं.

गौरतलब है कि इससे पहले कर्णम मल्लेश्वरी 22 साल पहले भारत की पहली वर्ल्ड चैंपियन बनी थीं. मल्लेश्वरी ने भारत की तरफ से लगातार दो बार ये खिताब जीता. मल्लेश्वरी ने साल 1994 और 1995 में वर्ल्ड चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल जीता था. कर्णम मल्लेश्वरी ने भारत की तरफ से साल 2000 में सिडनी ओलपिंक में कांस्य मेडल जीता था.

इंफाल की रहने वाली मीराबाई चामू के इतिहास रचने पर उन्हें खेल मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर ने ट्विटर पर बधाई दी है. उन्होंने लिखा कि चामू का वेट 48 किलो है जबकि उन्होंने अपने से चार गुना अधिक भार उठाया है. जिंदगी और खेल में इच्छाशक्ति सब कुछ है. कभी भी हार मत मानो, खेलो इंडिया.

First published: 30 November 2017, 14:25 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी