Home » खेल » narsingh yadav fail in dop test
 

रियो ओलंपिकः पहलवान नरसिंह यादव हुए डोप टेस्ट में फेल

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 July 2016, 13:20 IST
(कैच )

राष्ट्रीय डोपिंग निरोधक एजेंसी के महानिदेशक नवीन अग्रवाल ने रियो ओलंपिक से महज 10 दिन पहले कुश्ती में भारत की दावेदारी को तगड़ा झटका देते हुए बताया कि 74 किलोग्राम के फ्रीस्टाइल पहलवान नरसिंह यादव नाडा के डोप टेस्ट में फेल हो गए हैं.

डोप टेस्ट में फेल हो जाने के बाद नरसिंह रियो ओलंपिक में जा पाएंगे की नहीं इस पर संशय खड़ा हो गया है. नवीन अग्रवाल के मुताबिक पहलवान नरसिंह के बी नमूने में भी प्रतिबंधित स्टेरायड की मात्रा पाई गई है. 

बताया जा रहा है कि नरसिंह यादव शनिवार को नाडा के अनुशासन पैनल के सामने पेश हुए थे.

इस मामले में महानिदेश अग्रवाल ने कहा, ”जांच में नरसिंह प्रतिबंधित स्टेरायड के सेवन के दोषी पाए गए हैं. उसके बी नमूने भी पॉजिटिव पाए गए हैं. जब उसके बी नमूने की जांच हो रही थी, तब वह खुद भी मौजूद थे. मुझे उम्मीद है कि अनुशासन पैनल जल्दी इस मसले पर कोई फैसला लेगा. हमें तब तक इंतजार करना होगा.”

इस मामले में खेल मंत्रालय ने भी पुष्टि कर दी है कि एक पहलवान डोप टेस्ट में फेल हुआ है, हालांकि मंत्रालय की ओर से किसी का नाम नहीं लिया गया है.

मंत्रालय की ओर से जारी बयान में कहा गया, ”एक पहलवान को राष्ट्रीय डोपिंग निरोधक एजेंसी ने डोप टेस्ट में पॉजिटिव पाया है. नाडा का डोपिंग निरोधक अनुशासन पैनल मामले की सुनवाई कर रहा है. कल इसकी पहली सुनवाई हुई जिसमें दोषी पहलवान को अपने बचाव का मौका दिया गया.”

गौरतलब है कि रियो ओलंपिक में 74 किलोग्राम की श्रेणी के लिये नरसिंह यादव के चयन पर विवाद हो गया था, जब ओलंपिक विजेता सुशील कुमाीर ने भी 74 किलोग्राम वर्ग में अपनी दावेदारी ठोंक दी थी.

जिसमें भारतीय कुश्ती संघ ने सुशील कुमार के दावे को नकारते हुए नरसिंह यादव को हरी झंडी दी थी. उसके बाद सुशील कुमार अपने और नरसिंह यादव के बीच रियो जाने को लेकर ट्रायल की बात करने लगे.

पहलवान सुशील कुमार ने कुश्ती संघ के फ़ैसले को कोर्ट में भी चुनौती दी थी लेकिन कोर्ट ने उनकी याचिका ख़ारिज कर दी थी.

नरसिंह यादव साल 2014 के इंचियोन एशियाई खेलों में 74 किलो भार वर्ग में कांस्य और साल 2010 के राष्ट्रमंडल खेल में स्वर्ण पदक भी जीत चुके हैं. 

First published: 24 July 2016, 13:20 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी