Home » खेल » pakistani boxer influenced mary kom
 

मैरी कॉम से मिली पाकिस्तानी महिला मुक्केबाजों को प्रेरणा

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:52 IST

पाकिस्तान की महिला मुक्केबाज खौशलीम बानो, रुखसाना परवीन और सोफिया जावेदा को मुक्केबाजी की प्रेरणा भारतीय मुक्केबाज मैरी कॉम से मिली है. ये तीनों मुक्केबाज 12वें दक्षिण एशियाई खेलों में हिस्सा ले रही हैं.

इन मुक्केबाजों का कहना है, 'मुक्केबाजी में करियर बनाने की प्रेरणा पांच बार विश्व विजेता रह चुकीं मैरी कॉम पर आधारित फिल्म देखने से मिली. हम मैरी कॉम को बहुत समय से खेलते हुए देख रहे हैं.'

गिलगित-बल्तिस्तान की रहने वाली 23 वर्षीया खौशलीम को बहुत ही बेसब्री से बॉक्सिंग रिंग में मैरी कॉम से मुकाबले का इंतजार है.

उन्होंने कहा, 'उनसे मुकाबला करना आसान नहीं होगा, लेकिन मैं आश्वस्त हूं कि बॉक्सिंग रिंग में मैं उनसे बहुत कुछ सीखूंगी.'

मैरी कॉम ने इन पाकिस्तानी मुक्केबाजों के बारे में कहा, 'उन्हें और भी प्रेरणा की जरूरत है. अगर मदद की जरूरत है, तो वह कभी भी मेरी अकादमी आ सकती हैं.'

गौरतलब है कि तीनों महिला मुक्केबाजों ने 2015 की शुरुआत से ही प्रशिक्षण लेना शुरू किया है. इन्हें नौमान करीम प्रशिक्षण दे रही हैं जिन्होंने 2003 विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप में रजत पदक जीता है.

First published: 13 February 2016, 3:02 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी