Home » खेल » President Ramnath Kovind honoured players & coaches with Arjun-Dronacharya & various other sports Award
 

देवेंद्र-सरदार सिंह को राजीव गांधी खेल रत्न और हरमनप्रीत-पुजारा समेत 17 को अर्जुन अवॉर्ड से सम्मानित किया गया

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 August 2017, 18:37 IST
(राष्ट्रपति भवन ट्विटर)

राष्ट्रीय खेल दिवस के अवसर पर राजधानी में मंगलवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने खेल पुरस्कार बांटे. दो बार पैरालंपिक खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाले भारतीय एथलीट देवेंद्र झझारिया और भारतीय पुरुष हॉकी टीम के पूर्व कप्तान सरदार सिंह को देश के सर्वोच्च खेल सम्मान-राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार से सम्मानित किया.

झझारिया ने पिछले साल रियो पैरालंपिक में शानदार प्रदर्शन कर भाला फेंक स्पर्धा में 12 साल बाद स्वर्ण पदक जीता था. इससे पहले, झझारिया ने इसी स्पर्धा में अपना पहला स्वर्ण पदक 2004 में एथेंस में आयोजित पैरालंपिक खेलों में जीता था.

साल 1972 में जर्मनी में आयोजित पैरालंपिक खेलों में पुरुषों की 50 मीटर फ्रीस्टाइल स्पर्धा में मुरलीकांत पेटकर ने भारत के लिए पहली बार पैरालंपिक खेलों का स्वर्ण पदक जीता था.

 

राष्ट्रपति भवन में आयोजित सालाना कार्यक्रम में रामनाथ कोविंद ने आर गांधी (एथलेटिक्स), हीरा नंद कटारिया (कबड्डी), जीएसएसवी प्रसाद (बैडमिंटन), ब्रज भूषण मोहंती (मुक्केबाजी), पीए रैपल (हॉकी), संजय चक्रवर्ती (निशानेबाजी) और रोशन लाल (कुश्ती) को द्रोणाचार्य पुरस्कार से सम्मानित किया.

इस दौरान राष्ट्रपति ने अजुर्न अवॉर्ड भी प्रदान किए. अर्जुन पुरस्कार के लिए चुने गए 17 खिलाड़ियों में मरियप्पन थंगावेलु (ऊंची कूद, पैरालंपिक), चेतेश्वर पुजारा (क्रिकेट) और हरमनप्रीत कौर (महिला क्रिकेट) के अलावा वीजे सुरेखा (तीरंदाजी), खुशबीर कौर (एथलेटिक्स), अरोकिया राजीव (एथलेटिक्स), प्रशांति सिंह (बास्केटबॉल), लैशराम देवेंद्रो सिंह (मुक्केबाजी), बेमबेम देवी (फुटबाल), एसएसपी चौरसिया (गोल्फ), एसवी सुनील (हॉकी), जसवीर सिंह (कबड्डी), पीएन प्रकाश (निशानेबाजी), एंथोनी अमलराज (टेबल टेनिस), साकेत मायनेनी (टेनिस), सत्यव्रत कादियान (कुश्ती) और वरुण भाटी (पैरालंपिक)शामिल हैं.

पदक के अलावा खेल रत्न अवॉर्ड जीतने वाले खिलाड़ियों को 7.5 लाख रुपये का नगद पुरस्कार और प्रशस्तिपत्र जबकि अर्जुन, द्रोणाचार्य और ध्यानचंद अवार्ड जीतने वाले खिलाड़ियों को पांच लाख रुपये का नगद पुरस्कर व प्रशस्तिपत्र दिया गया.

First published: 29 August 2017, 18:37 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी