Home » खेल » Rio 2016 Olympics: Dipa Karmakar creates history in artistic Gymnastics
 

रियो ओलंपिक: इतिहास रचते हुए फाइनल में पहुंचीं दीपा करमाकर

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 August 2016, 11:46 IST

भारतीय जिम्नास्ट खिलाड़ी दीपा करमाकर ने रविवार को रियो ओलंपिक में जिमनास्टिक्स के फाइनल में जगह बनाई है. दीपा जिम्नास्टिक की सभी पांच क्वालिफिकेशन सबडिवीजन स्पर्धा के समापन के बाद वॉल्ट में आठवें स्थान पर रहीं, जो फाइनल में क्वालिफाई करने के लिए आखिरी स्थान था.

वह ऐसा कर पाने वाली पहली भारतीय महिला हैं. साल 1964 के बाद वो पहली भारतीय हैं, जिन्होंने जिम्नास्टिक्स के फाइनल में जगह बनाई है.

दीपा ने रविवार को हुए तीसरी सबडिवीजन क्वालिफाइंग स्पर्धा के वॉल्ट में 14.850 अंक हासिल किया. अमेरिका की सिमोन बाइल्स ने वॉल्ट में 16.050 अंक हासिल कर शीर्ष स्थान के साथ फाइनल में प्रवेश किया, जबकि दीपा सबसे निचले आठवें पायदान के साथ फाइनल में पहुंची हैं.

दीपा ने वॉल्ट में बेहद कठिन माने जाने वाले प्रोदुनोवा को सफलतापूर्वक अंजाम दिया और रियो-2016 में ऐसा करने वाली वह एकमात्र जिम्नास्ट रहीं. दीपा अब 14 अगस्त को वॉल्ट स्पर्धा के फाइनल मुकाबले में पदक की दावेदारी पेश करेंगी.

दीपा राष्ट्रमंडल खेलों (ग्लासगो 2014) में पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला जिमनास्ट रही हैं. इसके बाद उन्होंने हिरोशिमा में हुए एशियाई चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीता और 2015 के विश्व चैम्पियनशिप में वह फाइनल राउंड तक पहुंची और प्रतियोगिता में पांचवें स्थान पर रही थी. इस शानदार प्रदर्शन को देखते हुए रियो में भी दीपा से पदक की उम्‍मीद लगाई जा रही थी.

First published: 8 August 2016, 11:46 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी