Home » खेल » Rio Olympic 2016: Seven shuttlers qualify for Rio Olympics
 

भारत के 7 बैडमिंटन खिलाड़ियों को रियो ओलंपिक का टिकट

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 May 2016, 12:13 IST

भारत के सात बैडमिंटन खिलाड़ियों ने गुरुवार को अगस्त में होने वाले रियो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई कर लिया है. इनमें साइना नेहवाल और ज्वाला गुट्टा भी शामिल हैं.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक़ विश्व बैडमिंटन महासंघ की ताजा रैंकिंग के आधार पर पांच स्पर्धाओं में भारत के सात खिलाड़ियों ने ओलंपिक के लिए क्वॉलीफाई किया है. 

सायना-सिंधू टॉप-10 में

गुरुवार को जारी बीडब्ल्यूएफ की ताजा रैंकिंग में लंदन ओलंपिक की कांस्य पदक विजेता सायना और सिंधू मौजूदा विश्व रैंकिंग में आठवें और दसवें स्थान के साथ टॉप-10 खिलाड़ियों में शामिल हैं. इस वर्ग में स्पेन की केरोलिना मारिन शीर्ष पर हैं. 

किदांबी श्रीकांत पुरुष एकल रैंकिंग में 11वें नंबर पर हैं. वहीं चीन के चेन लोंग पुरुष सिंगल्स में शीर्ष स्थान पर हैं.

बीडब्ल्यूएफ की ताजा रैंकिंग में महिला युगल जोड़ी ज्वाला गुट्टा और अश्विनी पोनप्पा 14वें नंबर पर हैं. मनु अत्री और बी सुमित रेड्डी पुरुष डबल्स रैंकिंग में 20वें स्थान पर हैं. इस रैंकिंग में मिश्रित युगल वर्ग में शीर्ष 25 में कोई भी भारतीय जोड़ी शामिल नहीं है.

पदक हासिल करना लक्ष्य

स्पोर्ट्स अथारिटी ऑफ इंडिया (साई) ने अपने अधिकारिक ट्विटर हैंडल पर लिखा, "रियो क्वालीफिकेशन के लिए बधाई हो किदाम्बी, ज्वाला गुट्टा, साइना नेहवाल, अश्विनी पोनप्पा, मनु अत्री, पीवी सिंधू और सुमित रेड्डी. शुभकामनाएं."

ज्वाला ने फेसबुक पर लिखा, "हमने जगह बना ली, अब अगला कदम पदक हासिल करना है."

चार साल पहले पांच भारतीय शटलर ने लंदन ओलंपिक के लिये क्वालीफाई किया था. इस साल लंदन ओलंपिक की कांस्य पदक विजेता साइना अपने तीसरे ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगी, जबकि ज्वाला और अश्विनी पोनप्पा की जोड़ी अपने दूसरे ओलंपिक में हिस्सा लेगी.

श्रीकांत-सिंधू का पहला ओलंपिक

इनके अलावा पुरुष एकल और महिला एकल में पहली बार के श्रीकांत और पीवी सिंधू ने अपनी जगह बनाई है. पहली बार ओलंपिक में भारत की तरफ़ से दो महिला एकल खिलाड़ी हिस्सा लेंगी.

पुरुष युगल के लिए मनु अत्री और बी सुमंत रेड्डी पहली बार ओलंपिक में देश का प्रतिनिधित्व करेंगे. ब्राजील के रियो डि जेनेरियो में अगस्त में ओलंपिक खेलों का आयोजन होना है.

First published: 6 May 2016, 12:13 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी