Home » खेल » Rio Olympic 2016: Singapore's Joseph Schooling defeated his hero-idol Michael Phelps & grabs gold
 

जोसेफ स्कूलिंग ने आशीर्वाद देने वाले ओलंपिक चैंपियन माइकल फेल्प्स को ही दे दी शिकस्त

अमित कुमार बाजपेयी | Updated on: 13 August 2016, 18:44 IST

सिंगापुर के जोसेफ स्कूलिंग ने रियो ओलंपिक में अपने हीरो और सर्वाधिक सफल ओलंपिक खिलाड़ी माइकल फेल्प्स को शिकस्त देते हुए गोल्ड मेडल हासिल किया. 13 साल की उम्र में जोसेफ ने आठ साल पहले अपने हीरो माइकल फेल्प्स से 2008 में मुलाकात की थी.

रियो ओलंपिक में 21 वर्षीय जोसेफ ने 100 मीटर बटरफ्लाई के फाइनल मुकाबले में पहला स्थान प्राप्त करते हुए गोल्ड मेडल हासिल किया. जबकि दूसरे स्थान पर संयुक्त रूप से तीन तैराक पहुंचे. इनमें माइकल फेल्प्स के साथ उनके प्रतिद्वंदी ली क्लॉज और हंगरी के लैस्ज्लो सेह शामिल थे.

रियो ओलंपिक में चार स्वर्ण पदक जीत चुके 31 वर्षीय माइकल फेल्प्स को 100 मीटर बटरफ्लाई में भी गोल्ड मेडल पाने की उम्मीद थी. लेकिन उनके फैन जोसेफ स्कूलिंग ने उनकी उम्मीदों पर पानी फेर दिया और उन्हें पीछे करते हुए सोना कब्जा लिया.

स्कूलिंग ने इस दौरान न केवल फेल्प्स को पछाड़ा बल्कि 50.39 सेकेंड में यह मुकाबला जीतकर एक नया ओलंपिक रिकॉर्ड भी बना दिया. जबकि फेल्प्स के साथ बाकी दोनों तैराक 51.14 सेकेंड में यह मुकाबला पूरा कर सके.

जोसेफ की इस जीत के बाद उनकी एक तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो चुकी है जिसमें 2008 में स्कूल प्रतियोगिता के गोल्ड मेडलिस्ट जोसेफ अपने हीरो फेल्प्स के साथ खड़े हुए हैं. 

जोसेफ की इस सफलता ने सिंगापुर में उनके प्रशंसकों में भी इजाफा कर दिया है. न केवल देशवासियों बल्कि वहां के प्रधानमंत्री ली सीन लूंग ने भी फेसबुक पर उन्हें बधाई संदेश भेजा है. 

उन्होंने लिखा, "यह अबतक का सिंगापुर का ओलंपिक में पहला स्वर्ण पदक है और रियो ओलंपिक में भी पहला पदक है. जोसेफ आइजैक स्कूलिंग की स्वर्ण पदक वाली इस ऐतिहासिक विजय पर उन्हें मेरी शुभकामनाएं. यह एक अद्भुत दृश्य था जिसमें दुनिया के श्रेष्ठ लोगों के बीच प्रतिस्पर्धा में लक्ष्य पर नजर रखते हुए विजेता के रूप में उभरे. आपने आज हमें काफी गौरवांवित महसूस कराया है."

वहीं, फेल्प्स ने यह घोषणा कर दी है कि वो रियो ओलंपिक के बाद संन्यास ले लेंगे. हालांकि जोसेफ स्कूलिंग चाहते हैं फेल्प्स को अभी अपना खेल जारी रखना चाहिए ताकि उन दोनों में एक बार फिर से मुकाबला हो और सिंगापुर के लोगों को अपने हीरो का बेहतर प्रदर्शन दिख सके. जोसेफ के मुताबिक, "मुझे उम्मीद है कि माइकल मेरे साथ फिर से मुकाबला करने के लिए लंबे वक्त तक रहेंगे."

First published: 13 August 2016, 18:44 IST
 
अमित कुमार बाजपेयी @amit_bajpai2000

पत्रकारिता में एक दशक से ज्यादा का अनुभव. ऑनलाइन और ऑफलाइन कारोबार, गैज़ेट वर्ल्ड, डिजिटल टेक्नोलॉजी, ऑटोमोबाइल, एजुकेशन पर पैनी नज़र रखते हैं. ग्रेटर नोएडा में हुई फार्मूला वन रेसिंग को लगातार दो साल कवर किया. एक्सपो मार्ट की शुरुआत से लेकर वहां होने वाली अंतरराष्ट्रीय प्रदर्शनियों-संगोष्ठियों की रिपोर्टिंग.

पिछली कहानी
अगली कहानी