Home » खेल » Rio Olympic: Badminton player P V Sindhu recahed quarter final
 

रियो ओलंपिक: बैडमिंटन में उम्मीदें बरकरार, सिंधू और श्रीकांत क्वार्टर फाइनल में

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 August 2016, 11:03 IST
(फाइल फोटो)

रियो ओलंपिक की बैडमिंटन स्पर्धा में अभी भारत के लिए मेडल की उम्मीदें बरकरार हैं. सिंगल्स मुकाबलों में भारतीय स्टार बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधू ने क्वार्टर फाइनल में जगह बना ली है.

राउंड ऑफ 16 में खेले गए अहम मुकाबले में सिंधू ने आठवीं वरीयता प्राप्त चीनी ताइपे की खिलाड़ी ताइ जू-यिंग को एकतरफा मुकाबले में शिकस्त दी. क्वार्टर फाइनल में सिंधू का मुकाबला पूर्व नंबर एक और दूसरी वरीयता प्राप्त बैडमिंटन खिलाड़ी चीन की वांग यिहान से होगा. 

इससे पहले भारत की नंबर एक बैडमिंटन खिलाड़ी सायना नेहवाल दूसरे राउंड में हार गई थीं. देश की नंबर दो पीवी सिंधू ने रियो ओलंपिक में अपना जलवा दिखाया है.

चीनी ताइपे की खिलाड़ी ताइ जू-यिंग के खिलाफ सिंधू ने जबरदस्त खेल दिखाया और पहला गेम आसानी से जीत लिया. सिंधू ने पहला गेम 19 मिनट में 21-13 से जीता. 

अब नंबर दो वांग यिहान से टक्कर

पहला गेम जीतने के बाद पीवी सिंधू ने मैच पर अपनी पकड़ पूरी तरह बना ली. उन्होंने दूसरे गेम में जबरदस्त खेल दिखाते हुए चीनी ताइपे खिलाड़ी की एक ना चलने दी. दूसरा गेम सिंधू ने 21-14 से जीतकर मैच अपने नाम कर लिया.

क्वार्टर फाइनल में सिंधू का मुकाबला पूर्व नंबर एक बैडमिंटन खिलाड़ी चीन की वांग यिहान से होगा. बैडमिंटन में मेडल हासिल करने के लिए सिंधू को हर हाल में चीनी खिलाड़ी से पार पाना होगा.

रियो में वांग यिहान को दूसरी जबकि पीवी सिंधू को 10वीं वरीयता हासिल है. यह मुकाबला भारतीय शटलर के लिए किसी भी लिहाज से आसान नहीं होने वाला है.

श्रीकांत भी अंतिम 8 में

सिंधू के साथ ही किदाम्बी श्रीकांत भी भारत के ओलंपिक इतिहास में पुरुष एकल क्वार्टर फाइनल में पहुंचने वाले दूसरे खिलाड़ी बन गए. श्रीकांत ने खुद से ऊंची रैंकिंग वाले डेनमार्क के यान ओ योर्गेनसन को सीधे गेमों में शिकस्त दी.

दुनिया में 11वीं रैंकिंग वाले श्रीकांत ने 10वें दिन भारत का मनोबल बढाते हुए पुरुष एकल में अंतिम आठ में प्रवेश किया. चार साल पहले लंदन में पारूपल्ली कश्यप ने यह कारनामा कर दिखाया था.

वर्ल्ड नंबर पांच को मात

रियो सेंटर के पवेलियन-4 में खेले गए इस मैच में 11वीं वरीयता प्राप्त श्रीकांत ने पांचवीं विश्व वरीयता प्राप्त डेनमार्क के जैन ओ योर्गेनसेन को सीधे गेम में 21-19, 21-19 से हराया.

डेनमार्क के खिलाड़ी ने भारतीय खिलाड़ी को अच्छी चुनौती दी, लेकिन वह जीत दर्ज नहीं कर पाए. दोनों खिलाड़ियों के बीच पूरे मैच में अच्छी प्रतिस्पर्धा देखी गई. 

अब लिन डैन की चुनौती

एक समय पहला गेम 10-10 से बराबरी पर चल रहा था, यहां से श्रीकांत ने 13-12 की बढ़त हासिल की. श्रीकांत ने इस बढ़त को कायम रखते हुए पहला गेम 20 मिनट में 21-19 से अपने नाम किया.

क्वार्टर फाइनल में अब उनकी भिड़ंत लगातार दो बार के चैम्पियन चीन के लिन डैन से होगा. बीजिंग ओलंपिक-2008 और लंदन ओलंपिक-2012 के विजेता डैन विश्व चैंपियनशिप में बीते 10 वर्षो में पांच बार चैंपियन रह चुके हैं.

श्रीकांत के खिलाफ उनका रिकॉर्ड 2-1 का है. हालांकि चीन ओपन-2014 में आखिरी भिड़ंत के दौरान श्रीकांत उन्हें हराने में कामयाब रहे थे.

First published: 16 August 2016, 11:03 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी